सांस्कृतिक राष्ट्रवाद पर भारी पड़ते कट्टर पंथी,,धर्मांतरण करो या गांव छोड़ो।

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 पटना,दरभंगा


 सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की धुन चाहे जितनी पक्की हो, जाए नरेंद्र मोदी पूरे देश के ही नहीं पूरे विश्व के नेता हो जाएं, सारा विश्व भारत को विश्व गुरु मानने लग जाए पर यहां का धर्मांध मुसलमान नरेंद्र मोदी को कुछ भी मानने के लिए तैयार नहीं है। चाहे योगी हो चाहे मोदी हो चाहे हेमंत विश्व शर्मा हों पर मुसलमान डरने वाला नहीं है। अभी एक धर्मगुरु ने सरेआम भारत के संविधान और कानून को ललकारते हुए कहा कि अगर हमारे युवा उत्तेजित हो गए तो भारत सरकार और उसकी पुलिस को संभालना बड़ा मुश्किल होगा।बिहार सरकार से आत्मरक्षा की गोहर।

 न जाने क्यों भारत सरकार या प्रदेश सरकारी इस पर कार्यवाही नहीं करती हैं इसी तरह की यह घटना बिहार के दरभंगा जिले में आश्चर्य करने वाली सामने आई है जहां कट्टरपंथियों से परेशान हिंदू मां बेटे सनातन धर्म छोड़कर इस्लाम कबूल करने को मजबूर हो रहे हैं। घटना बालपट्टी ओपी थाना इलाके के मोरिया गांव की है, जहां राजदारी देवी के पुत्र विक्की ने दरभंगा के जिलाधिकारी से मुलाकात कर उनसे आत्मरक्षा की गुहार लगाई है पीड़ित ने शिकायत में कहा है कि जिस गांव में रहते हैं वहां मुस्लिम बहुल है ,गांव में अकेला हिंदू है ।

ऐसे में  पीड़ितों ने कहा है कि क्तरपंथियो  से तंग आकर के हम लोग धर्मांतरण को मजबूर हैं ऐसे में हमारी कोई मदद नहीं हो रही है।वहां के जिलाधिकारी राजीव रोशन का कहना है कि इस पर अनुमंडल अधिकारी को निर्देशित कर दिया गया है और साथ ही उनके खिलाफ कार्यवाही करने के लिए भी कहा गया है।

 मामला पूरा ध्यान में है प्रशासन इस पर कार्यवाही करेगी किस तरह की घटनाएं आए दिन पूरे देश में हो रही हैं और संविधान कुछ चुनौती मोदी को चुनौती सट्टा कुछ चुनौती और इस तरह के लोगों पर लगाम लगाने वाला कोई ऐसा एक नया कानून आना चाहिए जिससे धमकी देना भी एक बहुत बड़ा अपराध माना जाए

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*