दवा कंपनियां मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव से डाक्टरों को देना देना दिलाना बंद करें, अन्यथा दंड भुगते को तैयार रहें::प्रधान मंत्री

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 

नई दिल्ली

फार्मा कंपनियां अपने मेडिकल प्रतिनिधियों से डॉक्टर को दवा के नाम पर घूस देना दिलाना बंद करें अन्यथा कार्रवाई भुगतने के लिए तैयार रहें उक्त बातें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक कार्यक्रम के दौरान कही नरेन्द्र मोदी ने फार्मा कंपनियों को क्या चेतावनी दी है?

'साथी' नाम के एक एनजीओ की रिपोर्ट में बहुत गंभीर खुलासे हुए हैं, जिसके अनुसार बहुत से फार्मा कंपनियों के एमआर (मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव) अपनी दवाओं की बिक्री बढ़ाने के लिए डॉक्टर्स को रिश्वत देते हैं. इस रिश्वत में कार, विदेश यात्रा और लड़कियां भी शामिल होती हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, "कई डाक्टरों के विदेश यात्रा, कारों, और ट्रिप पर साथ में लड़कियों के बिल एमआर के द्वारा भरे गये हैं"

इस रिपोर्ट के सार्वजनिक होने के बाद पीएमओ ने तुरंत फार्मा एसोसिएशन की बैठक बुलाई. नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुलाई गई इस बैठक में फार्मा कंपनियों को कहा गया कि "कम्पनियाँ अपने सभी रिप्रेजेंटेटिव्स को रिश्वत देने से रोकें और खुद भी अपने तंत्र और कार्यप्रणाली में सुधार करें, अन्यथा हमें कठोर कानून बनाने पर विवश होना पड़ेगा"

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)