बस्ती पत्रकारिता के अजात शत्रु थे ,अनिल श्रीवास्तव,पुण्य तिथि पर सबने किए नमन.

कौटिल्य वार्ता
By -
0



चुनौतियों का सामना करने वाला व्यक्ति इतिहास रचता है-नरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव

बस्ती 18 सितम्बर , 
राज्य सूचना आयुक्त श्री नरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने सोमवार को कहा है कि चुनौतियों का सामना करने वाला व्यक्ति इतिहास रचता है बिना चुनौती के काई भी व्यक्ति प्रगति के रास्ते पर आगे नही बढ़ सकता है इर क्षेत्र मे चुनौतियां है।
   सोमवार को प्रेस क्लब के सभागार मे पूर्वांचल के वरिष्ठ पत्रकार अनिल कुमार श्रीवास्तव की तृतीय पुण्यतिथि के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि कोई भी व्यक्ति अगर अपने कार्य का विस्तार करता है उसके सामने चुनौतियां आती है और जो चुनौती स्वीकार कर लेता है वो व्यक्ति इतिहास रचता है। बिना चुनौती के कोई भी कार्य नही हो सकता है। कुछ ऐसा ही जीवन अनिल कुमार श्रीवास्तव का रहा है जब संसाधन सीमित थे तब भी उनसे कोई खबर छूटती नही थी लोग कल्याण की खबरो को प्रमुख स्थान देते थे। खबरो को सही समय और सही तथ्यों के साथ रखने का उनका अपना एक अलग अनुभव था। आज के समय मे नई पीढ़ी को भी उनसे सीखना चाहिए कि सीमित संसाधन मे लोक कल्याणकारी पत्रकारिता कैसे करना चाहिए। खबरो के मामले मे उनका कोई भी मित्र और शत्रु नही था।
   उन्होने कहा कि अनिल कुमार श्रीवास्तव साहसी व्यक्ति थे उनके द्वारा कम संसाधनो मे पत्रकारिता क्षेत्र मे सराहनीय कार्य किया गया है, पत्रकार का कर्तव्य है कि समाज को स्वच्छ और सुन्दर बनाने मे अपना अहम योगदान प्रदान करें। उनकी लेखनी स्वच्छ और सुन्दर थी उनके बताये हुए रास्तो पर चलना हम सभी का कर्तव्य बनता है साधनो के रहते हुए भी साइकिल से चल कर पत्रकारिता की अलख जगाने वाले अनिल कुमार श्रीवास्तव की कोई जोड़ नही है।
  कार्यक्रम को वरिष्ठ पत्रकार दिनेश कुमार पाण्डेय ने सम्बोधित करते हुए कहा कि अनिल कुमार श्रीवास्तव आदर्श पत्रकार थे हर सामाजिक कार्यो मे वे बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते थे वे पत्रकारिता क्षेत्र मे पूर्वांचल ही नही ब्लकि पूरे देश के लिए एक आदर्श मिसाल है। सारे साधनो के होने के बाद भी उन्होने सादगी को अपनाया था जिसके कारण उनका पूरा जीवन उज्जवल रहा।
   पूर्व विधायक राजमणि पाण्डेय ने कहा कि जब मै सक्रिय राजनीति मे था तब अनिल कुमार श्रीवास्तव ने हमारा मनोबल अपने खबरो के माध्यम से बढ़ाने का कार्य किया था तब के दिन आज जैसे नही होते थे पत्रकारिता एक तपस्या थी और अनिल जी एक तपस्वी थे। 50 से 60 किलो मीटर साइकिल चला कर वो खबर को लाने का और उसे प्रधान कार्यालय भेजने का कार्य करते थे जिससे जन आन्दोलनो को बहुत ही मजबूती मिलती थी और लोगो तक ये आन्दोलन अखबारो के माध्यम से पहुंचते थे।
  वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र नाथ तिवारी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि अनिल श्रीवास्तव ने जो अलख जगाई है ये हमेश जगमगाता रहेगा उनका जीवन एक वट वृक्ष के सामान था जिसकी शाखाओं पर न जाने कितने लोगो को पत्रकारिता का ककहरा सीखने को मिला,अनिल कुमार श्रीवास्तव ने अपने पूरे जीवन काल मे कभी भी मूल्यों से समझौता नही किया वो सच को सच और झूठ को झूठ कहने की हिम्मत रखते थे उन्होने कभी भी सिद्धांतों के विपरीत जाकर कोई कार्य नही किया,नये लोगो को उनके जीवन से बहुत कुछ सीखने को मिल सकता है।
 वरिष्ठ साहित्यकार रामनरेश सिंह मन्जुल ने सम्बोधित करते हुए कहा कि अनिल श्रीवास्तव जी एक सशक्त पत्रकार होने के साथ-साथ साहित्यकार भी थे उनके मार्ग दर्शन मे तमाम विद्यार्थियों को सहायता मिलती थी जिसमे से आज देश के कई प्रमुख पदो पर बस्ती जनपद के योगदान मे अनिल कुमार श्रीवास्तव का नाम एक प्रकाश स्तम्भ की तरह है जो लोगो को जीवन जीने की कला और मार्ग दर्शन करता रहेगा।
    वरिष्ठ समाज सेवक जगदीश शुक्ल ने कहा कि जन-जन की पीड़ा को बिना किसी भेदभाव के अनिल कुमार श्रीवास्तव खबरो के माध्यम से उठाते थे जिसपर विधानसभा और लोकसभा मे बहस भी होती थी कई नदियों पर पुल न होने का मुद्दा उठा कर उन्होने बस्ती जनपद के कई सड़को पर पुल का निर्माण करने के लिए तत्कालीन सरकारो को सोचनो के लिए विवश कर दिये थे।
 वरिष्ठ पत्रकार जयन्त कुमार मिश्रा ने कहा कि अनिल कुमार श्रीवास्तव की लेखनी बहुत ही मजबूत थी खबरो के लिए हमेशा सकिय रहते थे। जब तक समाचार को भेज नही देते थे तब तक वो चैन से बैठते नही थे उनके द्वारा कभी भी खबरो से समझौता नही किया गया है।
   पूर्व विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि पत्रकार अनिल कुमार श्रीवास्तव ने अपने जीवन काल मे बहुत ही सराहनीय कार्य किये है उन्होने गरीब बच्चो को शिक्षा दिलाने के लिए संर्घष किया है और आज वो बच्चे देश के उच्च पदों पर आसीन है। नई पीढ़ी को उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।
वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण देव मिश्र ने कहा कि पत्रकारिता क्षेत्र मे ही नही समाज मे भी उनके द्वारा बेहतर कार्य किये गये है। उनके द्वारा किये गये कार्यो को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा छोटी-छोटी खबरो को भी वो उतनी प्राथमिकता देते थे जितनी प्राथमिकता बड़े खबरो को देते थे कम संसाधनो मे न्यूज ऐजेन्सी मे कार्य करते हुए भी कई दैनिक अखबारो का संचालन भी करते रहे और आज भी उनके द्वारा स्थापित अखबार चल रहा है।
नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि अकुंर वर्मा ने कहा कि स्व0 श्रीवास्तव हमारे लिए गुरू थे उनके बताये हुए मार्ग पर चलते रहने से हमें खुशी और लक्ष्य की प्राप्ति हो रही है सादर जीवन उच्च विचार उनके जीवन का दर्शन रहा है वो हमें हमेशा आम जनता से जोड़ने के लिए प्रेरित करते रहते थे जिसका परिणाम आज सामने है।
वरिष्ठ पत्रकार मजहर आजाद ने कहा कि अनिल कुमार श्रीवास्तव का जीवन बहुत ही उदार था हमेशा उत्साह मे रहते थे खबरो को लेकर हमेशा सक्रिय भूमिका मे रहते थे उनकी प्राथमिकता रहती थी कि पहले खबरो को भेज दे फिर दूसरा कार्य करे।
   डुमरियागंज के अधिशासी अधिकारी महेश प्रताप श्रीवास्तव ने कहा कि अनिल कुमार श्रीवास्तव का जीवन बहुत संघर्ष शील रहा है और उन्होने संर्घर्षो से ऐसा मुकाम पाया जो सामान्य व्यक्ति कभी नही पा सकता है कुछ व्यक्ति केवल पद पाते है या कद पाते है लेकिन अनिल कुमार श्रीवास्तव को कद और पद दोनो ही मिला है। हम लोग बचपन मे उनसे मिलने के लिए आते थे बहुत ही सरल स्वाभाव के थे।
   वरिष्ठ पत्रकार सत्यव्रत द्विवेदी ने कहा कि अनिल श्रीवास्तव लेखनी के विद्यवान व्यक्ति थे वो हमेशा गांव,गरीब,मजबूरों की आवाज को बढ़ चढ़ कर उठाते थे।
   इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार लक्ष्मी नरायन पाण्डेय,वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप चन्द्र पाण्डेय,वरिष्ठ पत्रकार पुनीत दत्त ओझा,त्रिभवन प्रसाद मिश्र,सहायक सूचना अधिकारी प्रभाकर तिवारी,पूर्व सहायक सूचना अधिकारी दशरथ प्रसाद यादव,जगवीर सिंह, भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष महेश कुमार शुक्ल,डाक्टर वीके वर्मा,प्रेस क्लब के महामन्त्री महेन्द्र तिवारी,मनमोहन काजू,संध्या दीक्षित,अचर्ना श्रीवास्तव,संतोष सिंह,सुदृष्टि नारायण त्रिपाठी,दिनेश श्रीवास्तव,रहमान अली रहमान,देवेन्द्र प्रताप श्रीवास्तव,ओम प्रकाश श्रीवास्तव,सत्येन्द्र कुमार सिंह,विशाल पाण्डेय,रामकृष्ण लाल जगमग,रहमान अली रहमान,रमेश चन्द्र श्रीवास्तव सहित अन्य लोगो ने भी सम्बोधित किया।
     इस मौके पर अवधेश कुमार श्रीवास्तव,अशोक कुमार श्रीवास्तव,सन्दीप गोयल,सुरेश सिंह गौतम,सत्येन्द्र कुमार पाण्डेय,अताउल्लाह खान,दिनेश सिंह,राहुल पटेल,विनय कुमार श्रीवास्तव,वीर कुमार,राजन श्रीवास्तव,अनिल कुमार श्रीवास्तव,राजेन्द्र उपाध्याय,अशंुल आनन्द,गौरव श्रीवास्त,अमन श्रीवास्तव,आर्दश,आशीष,रामदीन,बाबूलाल,लालू प्रसाद यादव,पवन पाण्डेय,अरशद महमूद,राकिशोर श्रीवास्तव,जहांगीर आलम,राजेश पाण्डेय,चन्द्र प्रकाश शर्मा,सर्वेश कुमार श्रीवास्तव,अनिल कुमार पाण्डेय,दिनेश कुमार पाण्डेय,रमेश कुमार,उत्कर्ष,रमजान अली,मो0 शादब,लवकुश सोनी,सत्येन्द्र नाथ श्रीवास्तव,सत्येन्द्र नाथ श्रीवास्तव,राकेश गिरी,रजनीश त्रिपाठी,मो0 कलाम,दीपचन्द्र,रवि श्रीवास्तव,राजेश कुमार चित्रगुप्त,सुरेन्द्र श्रीवास्तव,गौकरन नारायण पाण्डेय,सईद खां,लवकुश यादव,डा0 नवीन सिंह,सरदार कुलवेन्द्र सिंह,कृष्णा द्विवेदी,राकेश तिवारी,जय प्रकाश उपाध्याय,अनवर अली,अशोक श्रीवास्तव,जीतेन्द्र कौशल,राजेश पाण्डेय,आनन्द कुमार गुप्ता,राजेश मिश्र,मुनिदेव चैधरी,प्रेम नाथ गौड़,त्रिलोकी नाथ,राकेश श्रीवास्तव,अवनीश कुमार,सुरेन्द्र चैधरी,भावेश कुमार,श्रवण पटवा,अभिषेक श्रीवास्तव,सुनील कुमार मिश्रा,अनिल कुमार,हरि ओम लल्ला,विवेक श्रीवास्तव,आफताब आलम,वीके त्रिपाठी,मो0 रफीक,पप्पू श्रीवास्तव,शिव कुमार रावत,राजेश कुमार,अरूण कुमार सहित समाज के कई वर्ग के लोग उपस्थित रहे।कार्यक्रम का संचालन प्रेस क्लब के अध्यक्ष विनोद कुमार उपाध्याय तथा अध्यक्षता प्रकाश चन्द्र गुप्ता ने किया।
   इसी क्रम मे स्वास्थ्य कैम्प का आयोजन किया गया जिसमे आर्युवैदिक एंव युनानी,होम्योपैथिक और एलोपैथ तथा नेत्र शिविर का कैम्प लगवाया गया जिसमे लगभग 210 लोगो का जांच पड़ताल किया गया और 328 लोगो मे निःशुल्क दवा का वितरण किया गया।
    अनिल कुमार श्रीवास्तव के तृतीय पुण्य तिथि पर 7 लोगो गौरव श्रीवास्तव,अशुंल आनन्द,अमन श्रीवास्तव,डाक्टर अजीत श्रीवास्तव,राम कुमार गुप्ता,राजकुमार,सुरेन्द्र सिंह ने रक्त दान करके रक्त दान जीवन दान के कार्यक्रम मे अपना अहम योगदान दिया है।





Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*