आत्म निर्भरता की पहल,सुई धागा प्रोजेक्ट का आरम्भ!

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 

सूई धागा जी प्रोजक्ट के जरिये सिलाई कटाई का प्रशिक्षण प्राप्त कर, महिलायें-किशोरियां बनेंगी आत्मनिर्भर,

देईसांड (बस्ती)/  युवतियों  और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बनकटी ब्लाक के देईसांड बाजार में में युवा विकास समिति द्वारा इन्डियन डेवलपमेंट फाउंडेशन मुम्बई के सहयोग से सूई धागा जी प्रोजेक्ट का शुभारम्भ समाजसेवी राजेश शुक्ल नें फीता काट कर किया गया। इस मौके पर उन्होंने प्रशिक्षुओं को संबोधित करते हुए कहा की ग्रामीण युवतियों और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने महिलाओं में स्वावलंबन की भावना विकसित कराने एवं उन्हे आर्थिक रूप से सशक्त बनना आज की महती आवश्यकता बन चुका है। उन्होंने कहा कि आज के समय में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए सिलाई- कढ़ाई का ज्ञान होना बहुत जरूरी है।

संस्था के सचिव बृहस्पति कुमार पाण्डेय नें कहा की गंवई लड़कियों, महिलाओं और  कोरोना से प्रभावित परिवारों की को निःशुल्क माह के लिए सिलाई कढाई प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सफलतापूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली महिलाओं और लड़कियों को प्रशिक्षण उपरांत प्रमाण पत्र देकर स्वरोजगार हेतु प्रेरित किया जाएगा। जिससे महिलाओं में स्वालंबनआत्म निर्भरता के साथ  उनके अंदर कौशल का विकास करना है। समाजसेवी माधुरी नें कहा की कहा अगर हमारे अंदर हुनर रहा तो हम अपने बदौलत स्व-रोजगार को बढ़ावा दे सकते है तथा आत्मनिर्भर बन सकते हैं।

इस मौके पर दिव्य देव पाण्डेय, राघवेन्द्र यादव, पंकज पाण्डेय, प्रशिक्षिका रागिनी यादव, महेंद्र यादव, बालकेश यादव, हर्ष पाण्डेय, विवेकानंद पाण्डेय, रीता देवी, आरती देवी, रिंका तुलिका पाण्डेय, अदम्य सहित अनेकों लोग मौजूद रहे।

 

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*