भरत मिलाप का दृश्य देख दर्शक भावविभोर

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 


भरत मिलाप का दृश्य देख दर्शक भावविभोर


 जौनपुर। असुरों का संहार कर लंका पर विजय प्राप्त करने के  उपरांत विजय रथ पर आरूढ़  राम,लक्ष्मण,जानकी और चरणों में  विराजमान मंगल मूरति मारुतिनन्दन तथा आगे पीछे भारी संख्या में रथ,हाथी घुड़सवार, पैदल गाजे-बाजे के साथ विजय उत्सव का पर्व मनाते हुए लोग जब गांव और कस्बों के बीच दिब्य झांकी के साथ पहुंचते हैं तो दर्शकों के मन में लंका विजय की तस्वीर जीवंत हो उठने के साथ हीं  राम दरस की लालसा बलवती हो उठती है। नवयुवक रामलीला समिति ईशापुर सुइथाकला में वर्षों से चली आ रही परंपरा का निर्वहन करते हुए श्रद्धा तथा प्रेम के वातावरण में प्रतिवर्ष लोग रामलीला का मंचन करते हैं रावण वध के उपरांत भरत मिलाप के अवसर पर मर्यादा पुरुषोत्तम की दिव्य झाँकी और चारों भाइयों का मिलन देखकर लोगों के नेत्रों से बरबस आंसू छलक पड़ते है।अयोध्या के पुरबासियों के विरह को देखकर श्री राम अपने कई रूपों में प्रकट होकर क्षण भर में हीं सभी लोगों से मिलकर उनके दुख को हर लेते हैं। धार्मिक आयोजनों के प्रतिअगाध श्रद्धा भाव रखने वाले समिति के अध्यक्ष रामेश्वर साहू श्रद्धा एवं भक्ति भाव में लीन होकर सतत् धार्मिक कार्यों में लगे रहते हैं। सक्रियता से सहयोग करने वालों में समिति के संस्थापक (कोषाध्यक्ष) राम धारी चौरसिया,प्रबंधक राम जी चौरसिया,राजेन्द्र पाण्डेय,श्याम जी चौरसिया, शिवाजी चौरसिया,राम धनी मौर्य,अनंत राम प्रजापति,संजय पाण्डेय,महेन्द्र पाण्डेय,छोटे लाल गुप्ता,राम लखन गुप्ता,समर बहादुर प्रजापति,सुरेन्द्र,शिव प्रकाश गुप्ता,राम चन्दर आदि सभी कार्यकर्ता पूरे मनोयोग से लगे रहते हैं।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*