आयुष विश्वविद्यालय गोरखपर के भटहट के पास, खुलेगा,जिसमे आयुवेद,यूनानी,हम्योपेथी और योग चिकित्सा पर कार्य होगा

 


गोरखपुर, 5 अगस्त 21
 प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आयुष विश्वविद्यालय का शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारिया अच्छे से हो इसमे  कोई कमी नहीं आने पाये। उक्त निर्देश मुख्यमंत्री जी ने भटहट ब्लॉक के पिपरी में आयुष विश्वविद्यालय के निर्माण स्थल का निरीक्षण के दौरान दिया। उन्होंने दूरबीन से पूरे स्थल का गहन मुआयना किया। मानसून के मौसम में वहां पानी लगा देख कर उन्होंने कहा कि यथाशीघ्र यहां से पानी की निकासी व्यवस्था हो। मुख्यमंत्री ने शिलान्यास समारोह को लेकर तैयार किये गये कार्ययोजना का भी अवलोकन किया और कहा कि समय से पूर्व सभी तैयारियां पूर्ण हो।
उल्लेखनीय है कि गोरखपुर के भटहट ब्लॉक के ग्राम पिपरी व तरकुलहा में 52 एकड़ भूमि पर बनने जा रहे राज्य के पहले आयुष विश्वविद्यालय में एक ही परिसर में आयुर्वेदिक, यूनानी, होम्योपैथी और योग चिकित्सा की पढ़ाई और उस पर शोध कार्य होगा। इन विधाओं से यहां चिकित्सा भी उपलब्ध रहेगी। प्रदेश के आयुष विधा के 98 कॉलेज इस विश्वविद्यालय से संबद्ध होंगे। इस विश्वविद्यालय में आयुष इंस्टिट्यूट व रिसर्च सेंटर भी होगा। विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए 299.87 करोड़ रुपये की डीपीआर कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग ने बनाई है। गोरखपुर में इस विश्वविद्यालय के खुलने से पूर्वांचल की जनता को चिकित्सा का एक और बेहतर विकल्प मिलेगा। विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य मार्च 2023 तक पूर्ण करने का लक्ष्य तय है।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी विजय किरण आनंद ने मुख्यमंत्री जी को प्रस्तावित कार्यक्रम के तैयारियो के बारे मे विस्तापूर्वक जानकारी दी। इस अवसर पर पिपराइच विधायक महेन्द्रपाल सिंह सहित विभिन्न जनप्रतिनिधि गण एव अधिकारी गण मौजूद रहे।
Comments