यूपी में बड़े भूचाल का संकेत तो नहीं है लिफाफा !!!राधामोहन सिंह की राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष से की गयी भेंट!

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 यूपी भाजपा में बड़े भूचाल का संकेत दे रहा


राधामोहन सिंह की राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष से की गयी भेंट!




मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ।


 भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह के अचानक लखनऊ पहुंचने से राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। हालांकि राधामोहन सिंह ने इन तमाम चर्चाओं को सिरे से खारिज कर दिया।सियासी सरगर्मियों के बीच राधा मोहन सिंह ने रविवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से राजभवन और विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से माल एवन्यू स्थित उनके सरकारी आवास पर मुलाकात किया। 




राज्यपाल से मुलाकात के बाद राधा मोहन सिंह ने कहा कि राज्यपाल पुरानी परिचित हैं और आज तक मिल नहीं पाया था। आज उसी औपचारिकता को लेकर मुलाकात हुई। संगठन और सरकार अच्छी तरह चल रहे हैं। कुछ सीटें खाली हैं तो उचित समय पर मुख्यमंत्री निर्णय लेंगे।

जबकि विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि शिष्टटाचार भेंंट थी। जब दीक्षित से पूछा गया कि बात-चीत किन विषयों पर हुई तो उनका जवाब था कि "राधामोहन जी हमारे पुराने मित्र हैं, उनके मन मे आया कि दीक्षित जी से भेंट हो, फोन आया, हम लोग बैठे, साहित्य और प्राचीन इतिहास पर चर्चा हुई"।





राधामोहन की राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष से हुई मुलाकात के बाद यूपी में सत्ताधारी दल में भारी घमासान का संकेत दे रहे हैं। कहा तो यहां तक जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कुर्सी भी खतरे में है। लेकिन योगी की बगावती पृष्टभूमि से गुजरती नेता मुख्यमंत्री पर हाथ डालने के पहले खतरे का टोह ले रहे हैं। मुख्ययमंत्री बनने से पहले कई बार योगी आदित्यनाथ अपने चहेतों को टिकट न मिलने पर नाराज होकर भाजपा को औकात बताते रहे हैं। जानकारों की मानें तो योगी की बढ़ती लोकप्रियता और हिंदुत्ववादी छवि से गुजराती नेता डरने लगे हैं। खासकर अमित शाह जो भाजपा में मोदी के बाद स्वयंभू दो नंबर का नेता बनते हैं। योगी उन्हें व उनके नाम पर धौंस देने वालों को घास नहीं डालते। इस लिये यह घमासान योगी बनाम अमित शाह माना जा रहा है। प्रदेश प्ररभारी द्वारा दिल्ली से लिफाफा लाकर राज्यपाल को देने की चर्चा के बीच विधानसभा अध्यक्ष से मिलने के पीछे यूपी भाजपा में किसी बड़े कांड का संकेत कर रही है। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष ने हाल ही में यूपी आकर प्रदेश सरकार के मंत्रियों से वन-टू-वन मुलाकात की थी। इसके बाद से ही सरकार और संगठन में बड़े स्तर पर फेरबदल की अटकलें लगाई जा रही हैं।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*