दुरुपयोग::डस्टबिन ई रिक्शा फांक रहे हैं धूल,पैसों की हुई बर्बादी,कूड़े के ढेर में तब्दील

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 

डस्टबिन ई रिक्शा फांक रहे हैं धूल,पैसों की हुई बर्बादी 


          केदार नाथ दूबे

संतकबीरनगर,उत्तरप्रदेश
नगर पंचायत मगहर ने नगर की साफ सफाई व्यवस्था के लिए कूड़ा-कचरा उठने और कम जरुरत के लिए छोटे पानी टैंकर के साथ ई-रिक्शा खरीददारी की गई।जिसे खरीदने में नगर पंचायत ने भारी-भरकम धन खर्च किया।जो कुछ दिन चलने के बाद कार्यालय परिसर में कबाड़ बन कर खड़े हैं।जिससे नगर की सकरी गली मोहल्ले की साफ सफाई में बाधा उत्पन्न हो रही है।नगर पंचायत कार्यालय ने कम खर्च के लिए 4 ई रिक्शा पानी के टैंकर और 10 ईरिक्शा डस्टबिन के लिए टेंडर निकाला गया था।जिसके क्रम में उक्त के आपूर्ति के लिए गोरखपुर जनपद की दो फर्मो मेसर्स नीलम कंस्ट्रक्शन एवं रुद्रा एसोसिएट के द्वारा आवेदन किया गया।जिसमें नीलम कंस्ट्रक्शन 4 ई रिक्शा पानी टैंकर की तथा रुद्रा एसोसिएट को 10 ई-रिक्शा डस्टबिन का टेंडर पाने में कामयाब रही है।

नगर पंचायत को रुद्रा एसोसिएट ने 10 ई रिक्शा डस्टबिन के भुगतान के लिये 6 नवम्बर 2018 को 29 लाख 26 हजार 400 ₹ का भुगतान हेतू बिल दिया। जिसका भुगतान 14 नवम्बर  2018 को नगर पंचायत ने कर दिया है।इसके अलावा 4 ई-रिक्शा पानी टैंकर के खरीद को नीलम कंस्ट्रक्शन ने 29 सितम्बर 2018 को 17 लाख 95 हजार 20₹ का भुगतान के लिए बिल प्रस्तुत किया। जिसके सापेक्ष में नगर पंचायत ने चौदहवाँ राज वित्त से एक साल बाद 30 सितम्बर 2019 को 12 लाख 24 हजार 326 ₹ का भुगतान भी कर दिया गया है।मजे की बात यह है कि जब से 14 ई रिक्शा खरीद कर आने के बाद कुछ ही महीने चलने के बाद से नगर पंचायत कार्यालय परिसर में खड़े - खड़े धूल फांक रहे हैं। मात्र पानी टैंकर वाला ई-रिक्शा प्रयोग में लाया जाता है। इस सम्बंध में नगर पंचायत कार्यालय के लिपिक संजय कुमार दूबे ने बताया कि चार पानी टैंकर ई-रिक्शा में से तीन चालू हालत में है।शेष अन्य ई रिक्शों की बैटरी खराब हो गई हैं। जिसके कारण  ई-रिक्शा खड़े हैं।उसे शीघ्र ही बैटरी बदल कर नई बैटरी लगाई जाएगी।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*