अब काशी में ड्रोन से कीजायेगी निगरानी,शवो को गंगा में प्रवाहित करने से हर हाल में रोकना होगा!

 



वाराणसी


कोरोना संकट काल में वाराणसी में गंगा नदी में शवों को प्रवाहित करने से रोकने के लिए प्रशासन ने एक और कदम बढ़ाया है। अब यहां गंगा की निगरानी अब ड्रोन से होगी।



कोरोना काल में वाराणसी में गंगा नदी में शवों को प्रवाहित करने से रोकने के लिए प्रशासन ने नया फैसला किया है। अब यहां गंगा की निगरानी ड्रोन से होगी। इससे गंगा में शव बहाने वाले पकड़े जाएंगे। मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में ड्रोन कैमरे से गंगा की निगरानी की व्यवस्था का शुभारंभ किया। इसका संचालन सिगरा स्थित कोविड कंट्रोल रूम से होगा। इसके साथ ही कंट्रोल रूम को लगातार रिपोर्ट भेजी जाएगी।वहीं, ड्रोन की मदद से शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सैनिटाइजर के छिड़काव के साथ ही सफाई व्यवस्था का समय-समय पर निरीक्षण भी किया जाएगा। इसके लिए नगर निगम द्वारा 4 ड्रोन मंगाए गए हैं। गौरतलब है कि पिछले दिनों गंगा में बहाए गए शवों को लेकर काफी बवाल मचा था। इसके बाद प्रशासन ने ड्रोन से निगरानी का फैसला किया है।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को वाराणसी पहुंचे थे। दौरे के दूसरे दिन मंगलवार को मुख्यमंत्री सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवपुर पहुंचे, जहां उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन की हकीकत देखी। वैक्सीन का पहला डोज लगवा रही सोनी कुमारी और सौरभ शर्मा से मुख्यमंत्री ने बात भी की।


सीएम ने पूछा, वैक्सीनेशन कराने में उन्हें कोई परेशानी तो नहीं हुई? जवाब में सोनी और सौरभ ने बताया कि वैक्सीनेशन कराने के लिए कल ही उन्होंने स्लॉट बुक किया था और आज की तारीख उन्हें मिली थी। मुख्यमंत्री के पूछने पर दोनों ने बताया कि उनके परिवार के अन्य सदस्यों ने भी वैक्सीनेशन करा लिया है।


जनप्रतिनिधि सस्ते गल्ले की दुकान और वैक्सीनेशन खुद देखें


मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में जनप्रतिनिधियों से मुलाकात की। कहा, खाद्यान्न के वितरण में किसी को कोई दिक्कत न हो। इसके लिए अपने दो-दो लोगों को राशन की दुकानों पर तैनात कर उनकी उपस्थिति में वितरण कराएं। इसके अलावा वैक्सीनेशन सेंटरों पर भी अपने दो-दो लोगों को लगा कर काम को कराएं।


जनप्रतिनिधि भी वैक्सीनेशन सेंटर पर स्वयं जाकर देखें कि कहीं कोई दिक्कत तो नहीं है। इस दौरान मंत्री अनिल राजभर, मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी, मंत्री रविंद्र जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ. अवधेश सिंह, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, कमिश्नर दीपक अग्रवाल और जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


काशी विश्वनाथ के दर्शन-पूजन कर बांटी राशन किट


काशी विश्वानाथ मंदिर में जलाभिषेक करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार की रात श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन कर प्रदेशवासियों के निरोग रहने और महामारी से निजात मिलने की कामना की। मंदिर के अर्चक द्वारा बाबा का विधि विधान से षोडशोपचार पूजन कराया गया। इस दौरान उन्होंने श्री काशी विश्वनाथ धाम के निर्माणाधीन भवन का निरीक्षण कर उसकी अद्यतन स्थिति की जानकारी ली।


काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का 53 प्रतिशत काम हुआ पूरा


काशी कॉरिडोर के निर्माण कार्य का जायजा लेते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।


दर्शन-पूजन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंदिर परिसर में लगे कॉरिडोर के मैप पर भवनों के निर्माण की स्थिति की जानकारी ली। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि 53 प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है।


मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि कोविड काल में लगभग 20 लाख रुपए की दवा व उपकरण की सप्लाई की गई है और लगभग 500 परिवारों को राशन का किट वितरित किया गया है। इसके बाद मुख्यमंत्री मंदिर चौक परिसर गए और जरूरतमंदों व निषाद परिवारों को राशन किट वितरित किए। मंदिर प्रशासन की ओर से बताया गया कि निषाद परिवारों को कोरोना कर्फ्यू के दौरान राहत सामग्री उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है, उसी का आज मुख्यमंत्री ने प्रतीकात्मक वितरण किया है।



Comments
Popular posts
सरकार को कानून व्यवस्था का दंभ, अपराधियों ने किया नाक में दम! लखनऊ में 7 साल की मासूम से अगवा कर दरिंदगी; 1 आरोपी गिरफ्तार, दूसरा फरार! हाईकोर्ट के पास सरेराह चौराहे पर महिला वकील की मोबाइल छीन लुटेरा फरार छात्रों के दो गुटों में संघर्ष, एक की मौत!
Image
ॐ नमो ब्रह्मनदेवाय गो ब्राह्मण हिताय च!
साई बाबा के पिता पिंडारी मुसलमान थे,इनका काम भारत मे लूटपाट करना था
Image
कलक्टर बस्ती का आग्रह सब योगदान करें टीका अभियान में!
Image
यूपी की बाराबंकी जेल में 26 कैदी एचआईवी पॉजीटिव मिलने से हड़कंप
Image