"जमीनी विवाद के चलते दो पक्षों में हुई मारपीट",किशोरी हुई रक्तरंजित

 





मिल्कीपुर,अयोध्या
इनायतनगर थाना क्षेत्र के घुरेहटा गांव में जमीनी रंजिश के चलते दो पक्षों में मारपीट हुई है।एक पक्ष का आरोप है कि दबंगों ने उसके घर में घुसकर महिलाओं एवं बच्चों को बर्बरता पूर्व पीटा तथा घर के बाहर रखी दो मोटर साइकिलों सहित गृहस्ती के सामान तोड़ डाले।वहीं दूसरे पक्ष का आरोप है कि उनकी बेटी सहित परिवारीजनों को पीटा गया। घटना की जानकारी के बाद इनायतनगर पुलिस ने आठ हमलावरों के खिलाफ गंभीर आपराधिक धाराओं में मुकदमा कायम करते हुए पीड़ितों को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया है।  


     ग्राम घुरेहटा पूरे बिशुनपुर निवासी मनीष यादव का आरोप है कि वह 13 दिसंबर की रात पड़ोस में ही दरिंयाव के पुरवा में दावत खाने गया था। वह लौट रहा था और अपने घर के करीब पहुंचा ही था कि 10 से 12 लोग जो हाथों में लाठी डंडा एवं अन्य सामान लिए थे उसे मारने के लिए दौड़ा लिए, किंतु वह माजरा भाप किसी तरह जान बचाकर मौके से भाग निकला और अपने घर पहुंचा।इतने में हमलावर मनीष के दरवाजे पहुंच गए और मनीष को लाठियों से जमकर मरने लगे। मारपीट देख उसकी पत्नी जब दौड़ी तो उसे भी दबंगों ने जमकर पीटा। 
मनीष का आरोप है कि उसकी 15 वर्षीय बेटी अर्चना भी बीच-बचाव में पहुंची तो उपरोक्त दबंगों ने उसे भी मारा पीटा और बदनियती से उसके कपड़े फाड़ डाले। मारपीट में घायल लोगों ने जब घर में घुसकर घर का दरवाजा बंद कर लिया तो उपरोक्त दबंगों ने घर के बाहर खड़ी दो मोटर साइकिलें भी तोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया। यही नहीं हमलावरों ने घर के बाहर लगे टुल्लू पंप, हैंड पंप सहित अन्य गृहस्थी के सामानों में जमकर तोड़फोड़ की। प्रभारी निरीक्षक विजय सेन सिंह ने पीड़ित मनीष यादव की तहरीर पर नंदकिशोर, दिनेश, बृजेश, मोहित तिवारी, रामप्रकाश, भोलानाथ एवं संजय तिवारी के खिलाफ मारपीट, छेड़खानी व 7 क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।
 प्रभारी निरीक्षक विजयसेन सिंह ने बताया कि मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनका चालान शांति भंग में करते हुए एसडीएम न्यायालय में भेज दिया गया है। हालांकि घटना की गहन छानबीन की जा रही है।वहीं इस घटना में दूसरे पक्ष के संजय तिवारी ने कहा कि मारपीट में उनके परिवारीजनों को भी चोटें आयी हैं। उनकी बिटिया विभा तिवारी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। लेकिन पुलिस ने उनकी एफआईआर नहीं दर्ज किया है।
.
Comments