प्रॉपर्टी कार्ड/धरौनी का उपयोग सम्पत्ति प्रमाणन के काम आएगा !

 


             संत कबीर नगर 11 अक्टूबर 


सरकार की महत्वकांक्षी ‘‘स्वामित्व योजना’’ का शुुभारम्भ करते हुये  प्रधानमंत्री जी द्वारा देश भर के एक लाख लोगों को ‘‘प्रापर्टी कार्ड’’ का डिजिटल वितरण किया गया। उनके द्वारा लाभार्थियों से सीधा संवाद किया गया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि इस योजना के सुभारम्भ से देश आत्मनिर्भरता की ओर एक और कदम बढ़ा दिया है। स्वामित्व योजना के तहत प्रापर्टी कार्ड (घरौनी) का उपयोग कानूनी दस्तावेज के रूप में प्रयोग करने पर गांवो में विवादों की समाप्ति होगी।


गांवो का सटीक लैण्ड रिकार्ड होने के साथ-साथ  आर्थिक उपार्जन की सम्भावना भी बढ़ेगी। गांवो में रहने वाले गरीब परिवारों को स्वरोजगार सृजन के लिये बैंकों द्वारा आसानी से कर्ज आदि की सुविधायें भी मुहैया करायी जा सकेंगी। गांवो का सटीक लैण्ड रिकार्ड होने से ग्राम पंचायतों मे बनने वाले स्कूल, अस्पताल, सार्वजनिक शौचालय आदि का कार्य विवादरहित व त्वरित गति से कराया जा सकेगा। इससे गांवो का विकास भी तेजी से होगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में प्रत्येक ग्राम पंचायतों का काम-काज आनलाइन एवं जीयो टैगिंग के साथ-साथ पारदर्शिता  से कराया जायेगा।


            पायलट प्रोजेक्ट योजना के तहत जनपद संत कबीर नगर के कुल 10 गांवों का चयन  किया गया था। जिसमें से 08 गावों कुसम्हीडांडी मे 14, बंजारीपुर में 102, नहसापार में 30, गोरखर में 88, सादिक गंज में 26, गौसपुर में 164, आजमपुर में 160 एवं केरमुआमाफी में 90 कुल 674 लाभार्थियों को  सदर विधायक दिग्विजय नारायण उर्फ जय चौबे द्वारा ‘‘प्रापर्टी कार्ड’’ (घरौनी) का वितरण किया गया।


उन्होंने अपने सम्बोधन मे कहा कि सरकार की महत्वकांक्षी ‘‘स्वामित्व योजना’’ भविष्य में देश की जनता के लिये मील का पत्थर साबित होगी।स्वामित्व योजना के तहत ‘‘प्रापर्टी कार्ड’’ (घरौनी) के वितरण कार्यक्रम  में सदर विधायक दिग्विजय नारायण उर्फ जय चौबे, जिलाधिकारी दिव्या मित्तल, अपर जिलाधिकारी संजय कुमार पाण्डेय, राजस्व एवं पंचायतीराज विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारीगण तथा जनपद के लाभार्थीगण उपस्थित थे।


Comments