फारूक अब्दुल्ला का बयान देश द्रोह को आमंत्रण !

रूक अब्दुल्ला का बयान देश की सम्प्रभुता के साथ विश्वासघात- आशीष


बस्ती,उत्तरप्रदेश


नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के अनुच्छेद-370 पर दिए गए विवादित बयान पर  तीखी टिप्पणी करते हुये दीन दयाल उपाध्याय सेवा प्रतिष्ठान  के  अध्यक्ष आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि उनका बयान पूरी तरह से राष्ट्र विरोधी है। उनके विरूद्ध कार्रवाई की जानी चाहिये। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का यह अर्थ कदापि नही है कि देश के मामलों को चीन या किसी अन्य देश से जोड़ा जाय। फारूक अब्दुल्ला का बयान देश की सम्प्रभुता के साथ विश्वासघात है।


आशीष श्रीवास्तव ने कहा कि  आज जब सीमा पर चीन तनावपूर्ण माहौल बनाए हुए है ऐसे समय मे  फारुख अब्दुल्ला का यह बयान कि चीन की मदद से जम्मू-कश्मीर मे अनुच्छेद 370 और  35 ए पुनः लागू होगा और चीन की मदद से जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा  भी मिलेगा  निहायत ही गैर-जम्मेदाराना और  राष्ट्र विरोधी है। कहा कि देश की सम्प्रभुता  , राष्ट्र  की एकता और अखंडता पर  इस तरह की  स्वतन्त्रता  को बर्दाश्त नही  किया जा सकता है। राजनीतिक विरोध,  मतभेद अपनी जगह है, लेकिन ये बातें  तो देशद्रोह की श्रेणी में आती हैं।


Comments