सत्ता और सुबिधा से दूर थे ब्रजभूषण तिवारी !

 


बस्ती ,उत्तरप्रदेश


समाजवादी चिन्तक पूर्व सांसद बृजभूषण तिवारी को उनके 78 वें  जन्म दिन पर याद किया गया। समाजवादी पार्टी कार्यालय पर मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने वृजभूषण तिवारी के संघर्ष और योगदान को रेखांकित किया,  कहा कि वे रचनात्मक  प्रतिरोध का आदर  करते थे। 


सपा जिलाध्यक्ष महेन्द्रनाथ यादव ने कहा कि अपनों में गुरूजी के नाम से लोकप्रिय वृजभूषण तिवारी ने कार्यकर्ताओं को संगठन मजबूत करने का तरीका बताया। वे गहन अध्ययन करते थे और रामायण, महाभारत, कुरान, बाईबिल आदि से जब उदाहरण प्रस्तुत करते तो चाहे संसद हो या कार्यकर्ताओं के बीच उनका सम्बोधन लोगों को प्रेरणा देता था। वे विरले सांसद थे जो सहजता से पैदल चलते या रिक्शे पर बैठकर शहर में घूमने के साथ ही किसी कार्यकर्ता के मिलने पर रूक जाते थे।


पूर्व विधायक राजमणि पाण्डेय ने कहा कि वृजभूषण तिवारी छात्र जीवन से ही डा. राममनोहर लोहिया के निकट थे और लोहिया जी ने वृजभूषण तिवारी को सम्बोधित पुस्तक लिखा जिसमें युवा पीढी के अपेक्षाओं को रेखांकित किया गया है। उन्हें राजनीति, आध्यात्म का गहन ज्ञान थे और उनका पूरा जीवन समाजवादी विचारधारा को आगे बढाने में समर्पित रहा।  समाजवादी चिन्तक चन्द्रभूषण मिश्र ने कहा कि बृजभूषण तिवारी की राजनीति जनता के साथ शुरू होती है। वे सत्ता और  सुविधा के लिए कभी नहीं दौड़े।


पूर्व सांसद बृजभूषण तिवारी को के 78 वें  जन्म दिन पर आयोजित कार्यक्रम को समीर     चौधरी, सिद्धेश सिन्हा, वृजेश मिश्र, जावेद पिण्डारी, अरविन्द सोनकर, मंगल नेता, राजेन्द्र यादव, फूलचन्द्र श्रीवास्तव, धर्मराज यादव, मो. सलीम, राजेन्द्र चौधरी, विजय विक्रम आर्य आदि ने सम्बोधित करते हुये यादों को साझा किया। कहा कि नियति ने असमय उन्हें हमसे छीन लिया। उनका योगदान सदैव याद किया जायेगा। वृजभूषण तिवारी सच्चे अर्थो में समाजवादी थे, सांसद होने के बाद भी रिक्शे पर उनका बस्ती में चलना अब सिर्फ यादों में है।  जन्म दिन पर वृजभूषण तिवारी को नमन् करने वालों में सपा नेता सुमन सिंह, चन्द्रिका यादव, सुरेन्द्र सिंह छोटे, इन्द्रावती शुक्ला, अखिलेश यादव, मो. जावेद, रामशंकर निराला, अभिषेक उपाध्याय, तिलकराम चौधरी, हरीश यादव, गोविन्द मौर्या, आशुतोष चौधरी, अमित यादव, आमिश, युनूस आलम, भोला पाण्डेय, आमिर, श्याम कुमार चौधरी, घनश्याम यादव, चीनी चौधरी,  सुजीत कुमार यादव, जर्सी यादव, रामवृक्ष यादव आदि शामिल रहे। कार्यक्रम के अंत में समाजवादी 85 वर्षीय  राम प्रसाद गोस्वामी के  निधन पर शोक व्यक्त करते हुये श्रद्धा सुमन अर्पित किया।


Comments