खराब गुणवत्ता के गेंहू,क्रय केंद्र रिजेक्ट नहीं कर सकता, प्रत्येक मंगलवार व शुक्रवार को केवल सीमांत कृषकों का गेंहू लिया जाएगा::कलक्टर बस्ती

कौटिल्य वार्ता
By -
0

बस्ती,उत्तरप्रदेश


क्रय केन्द्र पर किसी भी किसान का गेहॅू गुणवत्ता के आधार पर रिजेक्ट नही किया जायेंगा। सप्ताह में दो दिन प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार लधु एवं सीमान्त किसानों के लिए क्रय केन्द्र पर गेहॅू बेचने के लिए आरक्षित किया गया है। उक्त जानकारी जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने दी है।
उन्होने बताया कि इस वर्ष बटाईदार कृषक भी अधिकतम 100 कुन्तल गेहूॅ क्रय केन्द्र पर बेच सकेंगे। इसके लिए उन्हें भी पंजीकरण कराना आवश्यक है। वे मूल कृषक के साथ लिखित सहमति का पत्र, जो लेखपाल द्वारा सत्यापित हो गेहॅू बेचते समय क्रय केन्द्र पर देंगे। बटाईदार किसान द्वारा बेचे गये गेहॅू का मूल्य उसी के खाते मंे भुगतान किया जायेंगा।  
 उन्होने बताया कि रवी विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य योजना के अन्तर्गत जिले में कुल 120 क्रय केन्द्रों पर गेहॅू खरीद की जायेंगी। उन्होने बताया कि इसके लिए किसानों को खाद्य विभाग के पोर्टल बिेण्नचण्हवअण्पद पर पंजीकरण कराना अनिवार्य है। सभी क्रय एजेन्सियों द्वारा गेहॅू का भुगतान पीएफएमएस द्वारा उनके खाते में किया जायेंगा।  
उन्होने बताया कि गेहूॅ खरीद के लिए खाद्य विभाग के 25, पीसीएफ के 84, यूपीपीसीयू के 10 एवं भारतीय खाद्य निगम के 01 कुल 120 केन्द्रों पर गेहॅू खरीद की जायेंगी। किसान स्वयं अथवा किसी भी सहज जन सुविधा केन्द्र, साइबर कैफे से पोर्टल पर रजिस्टेªशन करा सकेंगे। इस वर्ष ओटीपी आधारित पंजीकरण की व्यवस्था की गयी हैं।
उन्होने किसानों से अपील किया है कि वे अपने वर्तमान मोबाइल नम्बर ही अंकित कराये, जिससे एसएमएस द्वारा प्रेषित ओटीपी को भरकर पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी कर सके। पंजीकरण के लिए कम्प्यूटराइज्ड खतौनी, फोटोयुक्त पहचान पत्र, बैंक पासबुक के प्रथम पृष्ठ की फोटोकापी एवं आधार कार्ड अनिवार्य है।
उन्होने बताया कि गेहॅू का समर्थन मूल्य 1925 रूपया प्रति कुन्तल है। किसान बन्धु किसी प्रकार की सहायता के लिए खाद्य विभाग के टोल फी नम्बर 1800-1800-150 पर सम्पर्क करे। साथ ही वे जिला खाद्य विपणन अधिकारी, क्षेत्रीय विपणन अधिकारी या ब्लाक के विपणन निरीक्षक से सम्पर्क कर सकते है।
उन्होने बताया कि इस वर्ष गेहॅू खरीद का कुल लक्ष्य 84500 मीट्रिक टन है। 10 मई तक कुल 11073 मीट्रिक टन गेहॅू खरीद हुयी है, जो कि 13.10 प्रतिशत है। किसानों को कुल 2131.54 लाख रूपये के सापेक्ष 1675 लाख रूपये उनके खातों में भुगतान कर दिया गया है। इससे 2136 किसान लाभान्वित हुए है। जिलाधिकारी ने किसानो से अपील किया है कि वे अधिक से अधिक गेहॅू क्रय केन्द्रों पर लाकर बेचें।


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)