जौनपुर, कोरोना पीड़ित पहले प्रवासी की मृत्यु से सब स्तवध!

कौटिल्य वार्ता
By -
0

कोरोना पीड़ित प्रवासी मजदूर की पहली मौत
जौनपुर। मुंगराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के प्रयागराज मार्ग पर स्थित सार्वजनिक इण्टर कालेज में जिला प्रशासन द्वारा बनाये गये सेण्टर में बीते गुरूवार की शाम क्वारंटीन किये गये एक व्यक्ति की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी थी । जिसकी रिपोर्ट शनिवार कोरोना पॉजिटिव की आई है। ज्ञात हो कि जफराबाद क्षेत्र के नाथूपुर निवासी 35 वर्शीय प्रदीप कुमार  रोजी-रोटी के सिलसिले में मुम्बई में रहता था। लॉक डाउन के दौरान वह वहीं फंस गया। मुम्बई से विशेष श्रमिक ट्रेन द्वारा वह बुधवार को मुम्बई से घर के लिये चला और गुरूवार को अपरान्ह प्रयागराज रेलवे स्टेशन पर उतरकर रोडवेज बस से घर को चला। जिला प्रशासन द्वारा जनपद की सीमा पर मुंगराबादशाहपुर के सार्वजनिक इण्टर कालेज में बनाये गये सेण्टर में सभी प्रवासी लोगों को चिकित्सकीय जांच के लिये रोका गया था । भीड़ अधिक होने से देर रात तक भी जांच पूरी नहीं होने से सभी को वहीं रोक दिया गया था। जहां शुक्रवार को सुबह प्रदीप की  तेज बुखार व खांसी के चलते हालत बिगड़ गयी। और इसी दौरान उसकी मौत हो गई थी। मामले की जानकारी होते ही सेण्टर पर तैनात कर्मचारियों द्वारा तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी को जानकारी दी गयी थी । सूचना मिलते ही प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. आरबी सिंह ने मुख्य चिकित्साधिकारी सहित अन्य उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। जिसके बाद जिलाधिकारी दिनेश सिंह, आरक्षी अधीक्षक अशोक कुमार, उपजिलाधिकारी मछलीशहर अमिताभ यादव, क्षेत्राधिकारी अवधेश शुक्ला, नगर पालिकाध्यक्ष शिवगोविन्द साहू, अधिशासी अधिकारी मीनाक्षी चतुर्वेदी, अवर अभियन्ता शिवानन्द वास्को, खण्ड विकास अधिकारी पीयूष सिंह, राजस्व निरीक्षक राजेश यादव, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा. आरबी सिंह आदि ने मौके पर पहुंचकर अधीनस्थों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया था । साथ ही मृतक के शव को चिकित्सा विभाग की उचित जांच पड़ताल के बाद अन्त्य परीक्षण हेतु भेजे जाने का निर्देश दिया था ।मृतक प्रदीप कुमार की  रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। जिसके बाद प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)