ज्ञानवापी निरीक्षण में सर्वे टीम को मिले पुख्ते प्रमाण

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 वाराणसी. 


ज्ञानवापी में चल रहे ASI सर्वे के दौरान शनिवार को ज्ञानवापी के तहखानों को खुलवाया गया. तहखाने में ASI टीम की टीम ने सर्वे के लिए निरीक्षण किया. ज्ञानवापी में हुए सर्वे की पहली पाली के पश्चात ज्ञानवापी से निकली हिंदू पक्ष की वादिनी ने चौकाने वाले खुलासे किए. हिंदू पक्ष की वादिनी सीता शाहू ने ज्ञानवापी में हो रहे सर्वे की लेकर जहां मुस्लिम पक्ष के सहयोग करने की बात कही, तो वही ज्ञानवापी के तहखाने में खंडित मूर्तियों और टूटे खंभों के अवशेष मिलने के दवा किया. सीता शाहू ने बताया कि तहखाने में लाइट न होने के बाद लाइट की व्यवस्था प्रशासन के द्वारा करवाया गया और ASI टीम ने तहखाने का वीडियोग्राफी किया.

तहखाने में मिली खंडित मूर्तियां, मंदिर के खंभों के अवशेष भी पाए गए : सीता शाहू

वादिनी सीता शाहू ने बताया कि सर्वे टीम ने जब तहखाने को खोला तो वहां पर पहले जिस प्रकार से दावा किया गया वैसे ही खंडित मूर्तियां मिली. इसके साथ ही तहखाने में खंडित अवशेष और टूटे हुए मंदिर के खंभे पड़े हुए है. हालांकि सीता शाहू से जब पूछा गया कि वह मूर्तियां किसकी थी, तो वह इसे बताने में अक्षम रही और कहा कि ASI की टीम सर्वे रिपोर्ट में इन सब बातों का उल्लेख कर न्यायालय में देगा की तहखाने की मूर्तियां कितनी पुरानी और किसकी है.

ASI की टीम बताएगी कितनी पुराने है अवशेष, मुस्लिम पक्ष को होगा विश्वास : सीता शाहू

सीता शाहू ने आगे बताया की तहखाने के अंदर नकाशीदार पत्थर पड़े है. तहखाने में मिल रहे अवशेष से हिंदू पक्ष को मजबूती मिलेगी. हम सभी पहले से कह रहे है कि यहां मंदिर था और मुस्लिम पक्ष इसे नकारता रहा. जब ASI टीम बताएगी कि यह अवशेष कितना पुराना है, तो मुस्लिम पक्ष को भी उनकी रिपोर्ट को मानना पड़ेगा.

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)