नाबार्ड का 43वा स्थापना दिवस,जिला सहकारी बैंक में सम्पन्न

कौटिल्य वार्ता
By -
0

बस्ती,उत्तरप्रदेश,12 जुलाई


भारतीय रिजर्व बैंक से अलग कृषि व्यवसाय ,कृषि उद्योगों को प्रोत्साहन देने के लिए  नाबार्ड नामक संस्था का गठन किया गया, यह संस्था संपूर्ण देश में कृषि व्यवसाय के  नीतिगत फैसले लेती है ।जिला सहकारी बैंक सहित सभी सहकारी संस्थाएं भी नाबार्ड के परिधि में आती हैं ।

आज नाबार्ड 43 वें स्थापना दिवस पर एक कार्यक्रम का आयोजन जिला सहकारी बैंक लिमिटेड बस्ती में आयोजित किया गया, जिसमें मुख्य रुप से अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक राजेंद्र नाथ तिवारी ,सचिव श्री प्रेम प्रकाश गौतम ,नाबार्ड के प्रतिनिधि श्री अंकुर निगम सहायक महाप्रबंधक ,श्री देवदत्त सहायक प्रबंधक, श्री सुदर्शन पोखरकर सहायक प्रबंधक, श्री रत्नेश पाल प्रबंधक, श्री अमित प्रमोध प्रबंधक ,श्री रवि सिंह प्रबंधक ने हिस्सा लिया ।

 नाबार्ड के श्री अंकुर निगम ने कहा नाबार्ड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीति सबका साथ सबका विकास और सब पर विश्वास की नीति पर काम कर रहा है ।कृषि जगत को वित्त पोषित कर वैश्विक प्रतिस्पर्धा में भारत के कृषि व्यवसाय को आगे बढ़ाना और स्वावलंबी भारत को बनाना नाबार्ड के प्राथमिकता है ।

अध्यक्ष राजेंद्र नाथ तिवारी ने कहा नाबार्ड का मार्गदर्शन सहकारिता के लिए मील का पत्थर है ।जो काम अन्य क्षेत्रों में भारतीय रिजर्व बैंक कर रहा है वही काम विकास परियोजनाओं और सरकारी योजनाओं के लिए नाबार्ड का मार्गदर्शन मिलता रहता है ।आज43वे  स्थापना दिवस पर हम सब ने नाबार्ड व सहकारिता के क्षेत्र में लगे हुए सभी कर्मचारियों और कार्यकर्ताओं के प्रति सद्भाव और शुभकामना व्यक्त किया । नाबार्ड  इस क्षेत्र में काम करते हुए आर्थिक दृष्टि से स्वावलंबी भारत के निर्माण में लगा हुआ है।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*