प्रेमी का शव लटका रहा, मृत पड़ी थी प्रेमिका

कौटिल्य वार्ता
By -
0


 


 मिली जौनपुर।  

चंदवक थाना क्षेत्र के पड़रछा गांव में मंगलवार की सुबह एक कमरे प्रेमी युगल की  षव   देखी गयी। रोशनदान से रस्सी के सहारे प्रेमी का शव लटकता मिला।  उसके पास ही चौकी पर प्रेमिका मृत पड़ी थी। सूचना पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।  उक्त निवासी फूलचंद्र विश्वकर्मा की 35 वर्षीया पुत्री ज्योति की शादी वर्ष 2011 में बदलापुर थाना के बेलाव निवासी राकेश विश्वकर्मा के साथ हुई थी। दोनों से एक आठ साल की बेटी है। शादी के चार साल बाद दोनों के रिश्ते खराब हो गए। करीब एक साल पहले ज्योति का संबंध मोबाइल के जरिए राजस्थान के अलवर जिले के 26 वर्षीय विकास कुमार मीणा से हो गया। इसकी भनक जब उसके पति को लगी तो विरोध करने लगा। मोबाइल से बात करने पर मारने पीटने लगा लेकिन वह नहीं मानी।  छः माह पहले वह घर से प्रेमी से मिलने अलवर चली गई। 

उधर, महिला की छोटी बहन प्रतीक्षा ने बदलापुर थाने में ज्योति को हत्या कर गायब कर देने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने ज्योति को अलवर से बरामद कर उसके पिता फूलचंद्र को सुपुर्द कर दिया। तब से वह मायके में ही रह रही थी। जीविकोपार्जन के लिए एक माह से पतरही में एक दुकान पर नौकरी भी कर रही थी। एक माह से पति से भी उसके संबंध अच्छे हो गए थे। उसका पति विगत शुक्रवार को उससे मिलने आया था और एक दिन रहकर शनिवार को गया। सोमवार को उसका प्रेमी भी अलवर से आ धमका। पतरही में उस दुकान पर भी गया जहां वह काम करती थी। रात में प्रेमिका के घर प्रेमी कब आया किसी को पता नहीं। मायके में केवल उसकी मां व छोटी बहन ही रहती हैं। भाई मुंबई तो पिता वाराणसी में रहते हैं। मंगलवार भोर में उसकी मां गीता देवी जगी तो देखा की युवक रस्सी के सहारे रोशनदान से फंदे पर लटका है वहीं ज्योति बगल में चौकी पर मृत पड़ी है। यह दृश्य देख उसके होश उड़ गए। शोर मचाई तो आस पास के लोग इकट्ठा हो गए।   प्रेमी युवक की पहचान आधारकार्ड के आधार पर हुईं।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*