डग्गामार बसे बिहार से दिल्ली तक यात्रियों का प्राण हथेली पर ले चल रही है

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 



बस्ती, 15 जुलाई। 
बिहार से दिल्ली जाने वाली तमाम डग्गामार बसें यात्रियों के लिये अभिशाप बन गयी हैं। इन बसों में यात्रियों को ठूंसकर भरा जाता हैऔर इनसे मनमाना किराया वसूल किया जाता है। इन बसों से प्रायः सड़क हादसे भी होते हैं। इन सभी दुश्वारियों को लेकर महकमे के अधिकारियों से लेकर जिला प्रशासन तक मौन साधे हुये हैं। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि अवैण रूप से बसों के संचालन में अधिकारियों का हित जुड़ा है।

उ.प्र. कांग्रेस कमेटी के प्रदेश महासचिव महेन्द्र श्रीवास्तव ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर तत्काल प्रभाव से बसों के अवैध संचालन पर रोक लगाने की मांग किया है। महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा 22 जून 2022 को कप्तानगंज में गुजरात से पश्चिम बंगाल जाने वाली स्लीपर बस में आग लग गयी। मुश्किल से यात्रियों की जान बंची। 8 अक्टूबर 2021 को फुटहिया चौराहे पर डुमरियागंज से मुंबई जा रही बस बेकाबू होकर मोबाइल की दुकान से टकराने के बाद पलट गयी, किसी तरह यात्रियों की जांन बची। 4 नवम्बर 2021 को डबल डेकर स्लीपर बस परसरामुपर के मडरिया में पलट गयी। कई यात्री चोटिल हो गये। इतना ही नही प्राइवेट लोग इन बसों से जमकर वसूली भी कर रहे हैं। कांग्रेस नेता ने आरटीओ रविकान्त शुक्ल की भूमिका संदिग्ध बताया है। उन्होने पूरे प्रकरण की जांच कराकर डग्गामार बसों के संचालन पर रोक लगाने की मांग किया है।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*