अवैध धर्मांतरण सिंडिकेट में शामिल मौलाना उमर के बेते अब्दुल्ला को एटीएस ने गिरफ्तार किया

कौटिल्य वार्ता
By -
0



मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। 

यूपी एटीएस ने अवैध धर्मांतरण गिरोह के सिंडिकेट से जुड़े मौलाना उमर गौतम के बेटे अब्दुल्ला को गौतमबुद्घ नगर क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। फिलहाल वह नई दिल्ली के जामिया नगर बाटला हाउस का निवासी है। अवैध धर्मांतरण के मामले में अब तक देश भर से 16 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। जिनमें मौलाना उमर गौतम, मौलाना कलीम सिद्दीकी भी शामिल हैं।



धर्मांतरण सिंडिकेट के संचालन हेतु विदेशों से भारी फंडिंग की गई थी। उमर गौतम व उसके साथियों को विदेशों से लगभग 57 करोड़ रुपये की फंडिंग हवाला एवं अन्य माध्यमों से की गई थी जिसके खर्च का ब्यौरा उमर गौतम व उसके साथी नहीं दे सके थे। आरोपियों के खातों में यूके, अमेरिका व अन्य खाड़ी देशों से भी भारी मात्रा में हवाला व अन्य माध्यमों से धन का आना प्रमाणित हुआ है। एटीएस के जांच में पाया गया कि अब्दुल्ला पुत्र उमर गौतम धर्मांतरित हुए लोगों को धन वितरित करने का काम करता था। वह धर्मांतरण सिंडिकेट के सह अभियुक्तों जहांगीर आलम, कौसर व फराज शाह से सीधे व सक्रिय रूप से जुड़ा है। मौलाना उमर गौतम द्वारा संचालित अल फारुखी मदरसा व मस्जिद तथा इस्लामिक दावा सेंटर के संचालन का काम अब्दुल्ला देखता है। अब्दुल्ला के विभिन्न खातों में अब तक 75 लाख रुपये का आना प्रमाणित हुआ है जिसमें लगभग 17 लाख रुपये विदेश से आए हैं। इन पैसों को अब्दुल्ला अपने पिता व अन्य सह अभियुक्तों के साथ मिलकर धर्मांतरित हुए व्यक्तियों में वितरित करता था। अभियुक्त अब्दुल्ला धर्मांतरण के इस सिंडिकेट का महत्वपूर्ण सदस्य है और मौलाना उमर गौतम के धर्मांतरण के सभी कार्यों में मौलाना का प्रमुख सहयोगी है। 

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*