कम मतदान के कारणों का निदान खोजा जा एगा. कलक्टर बस्ती की अच्छी पहल!

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 


बस्ती 10 अगस्त 

, जिले में पिछले लोकसभा एवं विधानसभा निर्वाचन में कम मतदान के कारणों का बूथवार सर्वे कराया जाएगा। कारणों का पता चल जाने पर बूथ से सम्बन्धित गांव में स्वीप एक्टिविटी बढ़ाकर मतदान का प्रतिशत बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। इस आशय के निर्देश जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने दिए हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी, राज्य निर्वाचन आयोग, उत्तर प्रदेश के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग करने के बाद एनआईसी सभागार में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि स्वीप की कार्य योजना 14 अगस्त तक उपलब्ध करा दें। इसमें राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित कैलेंडर को शामिल करते हुए स्वीप की कार्रवाई संपन्न कराएं।
उन्होंने निर्देश दिया है कि प्रत्येक कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया जाए। स्वीप के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रमों को आयोग की वेबसाइट पर अवश्य अपलोड किया जाए। उन्होंने प्रत्येक तहसील में स्वीप कोर कमेटी का गठन करने का निर्देश दिया है।
राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अवगत कराया गया है कि 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं तथा दिव्यांग मतदाता को पोस्टल बैलट की सुविधा प्रदान की जाएगी। इनसे फार्म 20 भरवाया जाएगा तथा पोस्टल बैलट के माध्यम से मतदान करने की सहमति ली जाएगी। इसके बाद ही इनको पोस्टल बैलट दिया जाएगा। उन्होंने निर्देश दिया है कि सभी निर्वाचन अधिकारी अपने क्षेत्र के वृद्ध एवं दिव्यांग व्यक्तियों की अभी से टैगिंग करा ले ताकि मतदान के समय प्रक्रिया पूरी करके इनसे पोस्टल बैलट से मतदान कराए जा सके।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि राज्य स्तर पर 1000 मतदाता मे 852 महिला मतदाता है, जबकि 18 से 19 वर्ष की आयु की मात्र 663 मतदाता है। उन्होने निर्देश दिया है कि बूथवार रणनीति बनाकर महिला मतदाताओं की संख्या बढाये। इसी प्रकार युवा एवं दिव्याग मतदाताओ की संख्या भी बढायी जाय। वीडियों कान्फ्रेन्सिंग में एडीएम/उप जिला निर्वाचन अधिकारी अभय कुमार मिश्रा, एसडीएम आन्नद श्रीनेत, तहसीलदार चन्द्रभूषण प्रताप तथा निर्वाचन कार्यालय के सहायकगण उपस्थित रहें।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*