महिला जनप्रतिनिधियों की जगह पुशो को बैठकों में प्रतिभाग से निषेध केI मांग.

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 


बसती, उत्तरप्रदेश

 जनवादी महिला समिति(एडवा) के संयोजन समिति की बैठक सह संयोजक सुंदरी की अध्यक्षता में न्याय मार्ग स्थित कैम्प कार्यालय पर सम्पन्न हुई। बैठक में हाल में हुए पंचायत चुनावों में विजयी महिला प्रधानों ,महिला प्रमुखों और महिला जिलापंचायत सदस्यों की जगह उनकी परिजनों द्वारा कार्य किये जाने पर प्रशासनिक चुप्पी पर आक्रोश व्यक्त किया गया।साथ ही एडवा का प्रथम जिला सम्मेलन सितंबर के अंतिम सप्ताह में शहर में करने का निर्णय लिया गया। 
          बैठक में पंचायत चुनावों में महिला आरक्षित सीटों पर विजयी प्रधान,क्षेत्र पंचायत सदस्य ,ब्लॉक प्रमुख तथा जिला पंचायत सदस्यों की जगह उनके पुरुष परिजनों द्वारा कार्य संचालित किए जाने को गलत परंपरा बताते हुए महिला जिला अधिकारी सौम्या अग्रवाल से  प्रवृत्ति पर रोक लगाए जाने की मांग किया गया।
   साथ ही जनपद में महिलाओ के प्रति अपराधों पर चिंता व्यक्त करते हुए  विभिन शासकीय,अर्ध शासकीय, निगमो,निजी शैक्षिक व स्वास्थ्य संस्थानों में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश अनुसार शारदा कमेटी गठित करने की मांग किया गया।
    कोरोना आपदा में परिवार की आमदनी घटने व तेल, गैस सहित खाद्य सामग्रियो के दाम बढ़ने से उपजे संकट की सर्वाधिक मार महिलाओ पर पड़ी है।ऐसे में प्रति व्यक्ति 10 किलो अनाज और प्रति परिवार 7500 रुपया महीना ,06 माह तक दिए जाने ,मनरेगा में कार्य दिवस व मजदूरी बढ़ाये जाने की मांग उठी।
     संगठन के सदस्यता ,इकाई गठन के कार्य पर संतोष व्यक्त करते हुए शहर में ही संगठन का प्रथम जिला सम्मेलन करने पर सहमति बनने के साथ ही किसान आंदोलन व 09 अगस्त को किसानों मजदूरो के प्रस्तावित आंदोलन में हिस्सेदारी का निर्णय लिया गया।
       बैठक में उर्मिला ,विजय लक्ष्मी,नीलू गौड़, सुशीला, पूनम ,वंदना चौधरी, इंद्रावती,मुन्नी देवी ,सोनी ,राज कुमारी ,विद्यावती,सरोज ,विशाला, रुखसाना बेगम, शीला,शामिल रही .

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*