श्री अरुण कुमार अब संघ भाजपा का समन्वय देखेगे,उत्तर में सरकार और बीजेपी का समन्वय सबसे बड़ी चुनोती

कौटिल्य वार्ता
By -
0


चित्रकूटधाम


उत्तर प्रदेश चुनाव के मद्देनजर अरुण कुमार को बड़ी जिम्मेदारी, देखेंगे संघ व भाजपा का समन्वय

प्रदीप जोशी बनाए गए आरएसएस के अखिल भारतीय सह सम्पर्क प्रमुख

अगले साल जब उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं इस बीच वर्तमान हालातों में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की लोकप्रियता का ग्राफ तो गिरा ही है साथ ही अंतर्कलह से भी सरकार जूझ रही है। ऐसे हालातों पर नजर रख रहे भाजपा के मातृ संगठन संघ ने हालातों का जायजा लेने का जिम्मा सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले को दिया था। इसको लेकर होसबोले उत्तर प्रदेश की राजधानी सहित अन्य क्षेत्रों का दौरा करने के बाद अपनी रिपोर्ट संघ प्रमुख को दी थी। तब से कयास लगाये जाने लगे थे कि संघ अब उत्तर प्रदेश को देखते हुए संघठनात्मक जिम्मेदारियों में बदलाव करेगा। रविवार को प्रांत प्रचारकों की बैठक के बाद संघ के शीर्ष नेतृत्व ने इसका आधिकारिक ऐलान भी कर दिया है। इसके तहत अब संघ और भाजपा के बीच समन्वय का जिम्मा सह सरकार्यवाह अरुण कुमार देखेंगे। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश चुनाव में संघ का चेहरा अब अरुण कुमार होंगे जो भाजपा से संघ का सेतु बनेंगे।

थिंक टैंक का है अनुभव

अरुण कुमार 12 वर्ष की आयु में सन् 1976 में संघ से जुड़ गये थे। मार्च 2021 में संघ ने अपनी जो नई टीम घोषित की थी उसमें अरुण कुमार को सह सरकार्यवाह बनाया गया है। इसके पहले वे अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख की जिम्मेदारी देख रहे थे। अरुण कुमार पूर्व में संघ के थिंकटैंक जम्मू कश्मीर अध्ययन केन्द्र के निदेशक भी रह चुके हैं। लिहाजा माना जा रहा है कि संघ उनके इन अनुभवों फायदा आगामी उत्तर प्रदेश चुनाव में लेना चाह रहा है, लिहाजा उनके कंधे पर बड़ी जिम्मेदारी दी गई है।

प्रदीप को भी नई जिम्मेदारी

संघ की कोर टीम ने एक और बदलाव करते हुए प्रदीप जोशी को आरएसएस का अखिल भारतीय सह सम्पर्क प्रमुख का जिम्मा दिया है। वे अभी तक बंगाल और ओडिशा के क्षेत्र प्रचारक का दायित्व देख रहे थे।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*