गोल्डेन कार्ड का लक्ष्य आगनबङी कार्यक्रतियो से पूरे कराए जाय. कलक्टर

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 बस्ती ,उत्तरप्रदेश


जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने सभी एमओआईसी, सीडीपीओ तथा बीडीओ को निर्देश दिया है कि आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत गोल्डन कार्डो को बनाने की प्रक्रिया में तेजी लाये। अभी तक मात्र 30 प्रतिशत ही कार्ड बनाये गये है। इस स्थिति पर उन्होने असंतोष व्यक्त किया। 

             विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में उन्होने निर्देश दिया कि आशा और आगनबाडी कार्यकत्री के माध्यम से निर्धारित लक्ष्य को पूरा कराये। उन्होने कहा कि शिकायत मिल रही है कि कामन सर्विस सेण्टर फीडिंग कार्य में लापरवाही बरत रहे है। उनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेंगी। चेतावनी देने के बाद यदि स्थिति में सुधार नही हुआ तो उनका केन्द्र भी निरस्त कर दिया जायेंगा। प्रभारी चिकित्साधिकारी तथा खण्ड विकास अधिकारी व सीडीपीओ आपस में समन्वय स्थापित कर शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य को पूरा कराये। आपस में संवादहीनता की स्थिति उत्पन्न न होने पाये। 

           उन्होने कहा है कि ड्यूलिस्ट/पात्रता सूची प्रतिदिन के लिए निर्धारित होना चाहिए और वह प्लान आशा/आगनबाडी़ के माध्यम से गॉव में गठित निगरानी समिति के संज्ञान में लाया जाय, जिससे कार्ड बनाने की स्थिति में शीघ्र सुधार हो सकें। 

       बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 राजेश कुमार प्रजापति, पीडी कमलेश सोनी, जिला विकास अधिकारी अजीत श्रीवास्तव, एसडीएम सदर पवन जायसवाल, आनन्द श्रीनेत, अर्थ एंव संख्याधिकारी टीपी गुप्ता, बीएसए जगदीश शुक्ला, बीडीओ कुदरहॉ संजय नायक, श्वेता वर्मा, डॉ0 सीएल कन्नौजिया, डॉ0 फखरेयार हुसैन तथा प्रभारी चिकित्साधिकारीगण, ईडीएम सौरभ द्विवेदी, सीएससी के प्रबन्धक अजय मिश्रा उपस्थित रहे।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*