बाराबंकी में मौत का तांडव,18 मरे 40 घायल,डबल डेकर बस सड़क किनारे खड़े ट्राला से टकराई,हरियाणा से बिहार जारहीथी बस150 यात्री सवार थे बस में

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 


लखनऊ,उत्तरप्रदेश


अपना सोचा हो नहीं हरि सोचा तत्काल ,आज उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में मंगलवार गत रात बड़ा हादसा हो गया। यहां लखनऊ-अयोध्या हाईवे पर सड़क किनारे खड़ी बस को तेज रफ्तार ट्रेलर ने टक्कर मार दी। हादसे में बस में सवार और उसके नीचे सो रहे यात्री चपेट में आ गए। टक्‍कर इतनी जबरदस्‍त थी क‍ि हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में एक महिला और बाकी पुरुष हैं। जबक‍ि 23 से ज्यादा लोग घायल हैं। 10 गंभीर घायलों को ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया है। बस हरियाणा से बिहार जा रही थी। मृतकों की संख्या और बढ़ भी सकती है।

बस में सवार थे 150 से यात्री


हादसा बाराबंकी के रामसनेहीघाट थाना क्षेत्र में हुआ। डबल डेकर बस हरियाणा से बिहार जा रही थी। इसमें 150 यात्री सवार थे। दरअसल, एक बस रास्ते में खराब मिली थी, जिसके यात्री भी इसी बस में आ गए थे। बाराबंकी के रामसनेहीघाट थाना क्षेत्र में बस का एक्सल टूट गया। इसलिए ड्राइवर ने बस को लखनऊ-अयोध्या हाईवे पर कल्याणी नदी के पुल पर खड़ा कर दिया था। इसके बाद यात्री उतरकर बस के नीचे, उसके आगे और आसपास लेट गए। इसी बीच रात 11:30 बजे लखनऊ की ओर से आ रहे तेज रफ्तार ट्रेलर ने बस को टक्कर मार दी। इससे बस और ट्रक की चपेट में आकर करीब 11 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई

बारिस बनी सहायता में बाधक!
आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचित करते हुए राहत-बचाव शुरू किया। घायलों को रामसनेहीघाट CHC ले जाया गया, जहां से गंभीर घायलों को जिला अस्पताल और लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से शवों को हाईवे से हटाया। इसी दौरान तेज बारिश शुरू होने से भी रेस्क्यू में दिक्कत आई।

हादसे के बाद ट्रेलर का ड्राइवर भगा!
हादसे के बाद ट्रेलर का ड्राइवर मौके से फरार हो गया। हाइवे पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इससे करीब 5 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। हादसे के शिकार लोगों ने बताया कि बस में सवार सभी यात्री बिहार के सीतामढ़ी, सुपौल सहित अलग-अलग जिलों के रहने वाले थे। ये सभी कामगार थे, जो धान की रोपाई के लिए अपने-अपने गांव वापस जा रहे थे।

अब तो यही कहना पड़ेगा नजाने किस रूप में मौत सामने आकर नृत्य करने लगे .।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)