आई टी आई परिसर बस्ती में प्रतिदिन 100 टीके लगेंगे! कलक्टर बस्ती

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 

बस्ती,उत्तरप्रदेश


 आई टी आई परिसर स्थित आरटीओ कार्यालय में प्रतिदिन 100 लोगों का कोविड-19 का टीकाकरण कराने के लिए जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने अधिकारियों को निर्देशित किया है। शासन के निर्देश पर रिक्शा, टेम्पो, ई-रिक्शा, टैक्सी तथा व्यवसायीक वाहन चालको को कोविड का टीका लगवाने के लिए विशेष टीकाकरण केन्द्र का फीता काटकर उद्घाटन करने के बाद जिलाधिकारी अधिकारियों को सम्बोधित कर रही थी। इस अवसर पर सीएमओ डाॅ0 अनूप कुमार भी उपस्थित थे।

जिलाधिकारी ने टीकाकरण रजिस्टर का भी निरीक्षण किया। उन्होने निर्देश दिया कि आनलाइन रजिस्टेªशन तथा आफलाइन रजिस्टेªशन में समानता बनाये रखें। इसमें अन्तर आने पर टीकाकरण की वास्तविक संख्या का पता नही चलता है तथा पोर्टल पर वैक्सीन का मिसयूज परिलक्षित होता है। उन्होेने वैक्सीन के दुरूपयोग पर रोक लगाने का निर्देश दिया। उन्होने टीकाकरण कर रहे कर्मचारियों से जानकारी प्राप्त किया।
 उन्होने निर्देश दिया कि टीका लगवाने के बाद व्यक्ति को आधे घण्टे के लिए रोका जाय और एक अलग कमरे में उनको बिठाया जाय। उन्होने वहाॅ उपस्थित लोगों से कहा कि आज उनको कोवीशील्ड लगवायी जा रही है। इसकी दूसरी डोज 84 दिन पर लगायी जायेंगी। यदि उन्हें हल्का बुखार या हरारत होती है तो केन्द्र से दी गयी पैरासीटामोल की गोली अवश्य खा लें।


टीकाकरण केन्द्र पर एएनएम लक्ष्मी पाण्डेय तथा सुधा द्वारा टीकाकरण किया जा रहा था। उन्होने बताया कि अभी तक 30 लोगों का रजिस्टेªशन कर लिया गया है तथा उन्हें टीका लगवाया जा रहा है। उन्होने बताया कि पहचान के लिए आधार कार्ड के अलावा मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड भी देखा जा रहा है। पूनम यादव द्वारा रजिस्टर मेनटेन किया जा रहा था। विजय कुमार तथा शोभित कुमार द्वारा आवश्यक सहयोग किया जा रहा था।  
जिलाधिकारी ने आरटीओ कार्यालय पर भीड़ को देखते हुए सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन न करने पर नाराजगी व्यक्त किया। उन्होने आरआई नरेन्द्र यादव को व्यवस्था बनाने के लिए निर्देश दिया। उन्होने कहा कि काउंटर पर गोला बनवाये और सुनिश्चित करे कि आने वाले लोग लाइन से उसी गोले में खड़े हो। इस दौरान वहाॅ पर एसीएमओ डाॅ0 सीके वर्मा, डाॅ0 राकेश मणि उपस्थित रहें।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*