मौत के सौदागरों को सत्ता का संरक्षण

 प्रयागराज में पकड़ा गया आरोपी पंकज अग्रवाल यूपी के कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल "नंदी" का खास अनुयायी




मौत के सौदागरों का भाजपाई कनेक्शन की जांच हो- अशोक सिंह



मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। ब्लैक फंगस के इलाज के लिए नकली इंजेक्शन बेचने के मामले में पुलिस ने खुल्दाबाद और नैनी स्थित दो मेडिकल स्टोर को बंद करवा दिया है। गिरफ्तार किए गए मेडिकल स्टोर संचालक मधुरम बाजपेयी व पंकज अग्रवाल को कानपुर पुलिस अपने साथ ले गई। पूछताछ में पता चला है कि अभियुक्त लखनऊ से नकली इंजेक्शन मंगवाकर बिक्री करते थे। गिरफ्तार 


अभियुक्त पंकज अग्रवाल के फेसबुक वॉल से पता चलता है कि उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल "नंदी" से उसके गहरे संबंध हैं।




कानपुर में गिरफ्तारी होने पर हुए थे बेनकाब



एसपी क्राइम आशुतोष मिश्र का कहना है कि अभी दोनों मेडिकल स्टोर की पूरी तरह से छानबीन नहीं की गई है। ऐसे में उन्हें बंद करवा दिया गया है। आरोपितों का बयान दर्ज होने के बाद फिर से मेडिकल स्टोर की तलाशी ली जाएगी। कानपुर में पकड़े गए एमआर ज्ञानेश से मधुरम ने अपने खाते में 97 लाख रुपये लिए थे। इनके दोनों के मोबाइल कनवर्सेशन से भी इसके साक्ष्य मिले हैं। अब मधुरम और पंकज अग्रवाल से जुड़े लोगों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। गुरुवार को कानपुर पुलिस ने ब्लैक फंगस के इलाज में कारगर लाइपोजोनल इंफोटोरिसिन बी इंजेक्शन का नकली इंजेक्शन बेचने के आरोप में ज्ञानेश शर्मा व प्रकाश मिश्र को गिरफ्तार किया था। 




प्रकाश मिश्र की फेसबुक वॉल भी भाजपा के मंत्रियों और संगठन के दिग्गजों के लिये गये फोटो से भरी पड़ी है। जांच के दौरान पता चला है कि इस गिरोह से जुड़े कई सदस्य प्रयागराज, प्रतापगढ़, कौशांबी समेत दूसरे जिलों में ऐसा काम कर रहे हैं। साक्ष्य मिलने के बाद शुक्रवार रात कानपुर पुलिस ने प्रयागराज की क्राइम ब्रांच और ड्रग इंस्पेक्टर के साथ खुल्दाबाद, नैनी, कोतवाली और कैंट में छापेमारी करते हुए चार लोगों को पकड़ा था। हालांकि बाद में दो की संलिप्तता नहीं मिलने पर उन्हें छोड़ दिया गया, जबकि नैनी के पंकज व कालिंदीपुरम कॉलोनी के मधुरम को गिरफ्तार किया गया था। एसपी क्राइम ने बताया कि आरोपितों के पास से नकली इंजेक्शन नहीं मिला, लेकिन उसकी सप्लाई करने की बात स्वीकार की है। 




इस संबंध में उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी में भाजपा से जुड़े ब्लैक मार्केटर आपदा को अवसर बना लिये। उन्होंने कहा दो दिन पहले कानपुर में गिरफ्तार भारी दाम लेकर ब्लैक फंगस का नकली इंजेक्शन बेचने वाले आरोपी का भाजपा नेताओं और मंत्रियों से गहरे संबंध उजागर हुये थे। आज प्रयागराज से गिरफ्तार पंकज अग्रवाल का भी उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार के कैबिनेट मंत्री का खास गुर्गा निकला। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बतायें कि परेशान रोगियों को जहर परोसने वाले आरोपियों और उन से जुड़े भाजपा नेताओं और मंत्रियों की संपत्ति कब जप्त करेंगे। इनके घरों पर बुल्डोजर कब चलेगा? उन्होंने कहा कि उच्य न्यायालय के सिटिंग न्यायमूर्ति की अध्यक्षता में कमेटी बना कर दवा के नाम पर जहर परोसने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाये। 

Comments