बस्ती में बचे 3000 प्रवासियों की सेंमपुलिग जल्द कराई जाने का डीएम ने दिए निर्देश!

 


बस्ती 
जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 कमांड एवं कंट्रोल सेंटर में पूरे 24 घंटे के लिए तीन शिफ्ट में अधिकारियों एवं डॉक्टर की तैनाती की गई है। विकास भवन परिसर में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होने कहा कि कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति को एल-2 ओपेक कैली अस्पताल या अन्य एल-1 अस्पताल में भर्ती कराने के लिए सबसे पहले कमांड सेंटर में दिए गए नंबर पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी या डॉक्टर फोन करके मरीज की आईडी जनरेट कराएंगे। कमांड सेंटर द्वारा मरीज की स्थिति तथा ओपेक कैली अस्पताल में बेड की उपलब्धता के आधार पर व्यक्ति को रेफर किया जाएगा। इस संबंध में बैठक में उपस्थित डॉक्टर जीएम शुक्ला ने बताया कि बेड और ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता हो गई है। संक्रमित व्यक्ति को भर्ती करने में अब कोई दिक्कत नहीं होगी।

   जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि ओपेक कैली अस्पताल में तत्काल पोर्टेबल एक्सरे मशीन को चालू किया जाए जिससे कि आईसीयू में भर्ती मरीज का एक्सरे कराया जा सके। उन्होंने जिला अस्पताल में एंबुलेंस प्रभारी डॉक्टर हलधर को निर्देशित किया कि सभी 34 एंबुलेंस में ऑक्सीजन सिलेंडर भरे हुए रखे जाएं ताकि उनकी आवश्यकता पड़ने पर उनका उपयोग किया जा सके। उन्होंने सी एम एस डी स्टोर पर प्रभारी को निर्देश दिया कि एंटीजन किट जो लगभग 10,000 से अधिक उपलब्ध है सभी सीएचसी/पीएचसी पर जांच हेतु उपलब्ध कराया जाए। इसके अलावा दवाओं का किट भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराया जाए ताकि आशा के माध्यम से उन्हें मरीजों तक पहुंचाया जा सके।
  उन्होंने कहा कि लगभग 3000 प्रवासी लोगों का अभी तक सेंपलिंग नहीं कराया गया है। इसमें रामनगर, दुबौलिया, बनकटी, बहादुरपुर मैं अधिक संख्या में प्रवासी शेष है। उनका शीघ्र अति शीघ्र सैंपल कराया जाए।
 उन्होने निर्देश दिया कि सभी आरआरटी टीम प्रातः 08.00 बजे क्षेत्र में निकल जाये। इसके एक दिन पहले मूवमेन्ट प्लान बनाकर उन्हें उपलब्ध कराया जाय। आरआरटी टीम द्वारा प्रत्येक दिन एप पर विजिट के बारे में सूचना अपलोड कर दी जाय। यह सुनिश्चित किया जाय कि कोरोना संक्रमित पाये जाने पर आरआरटी टीम दूसरे दिन उसके घर अवश्य पहुॅच जाय। उन्होने आरआरटी टीम द्वारा किए गये फ्स्र्ट विजिट का विवरण बहादुरपुर तथा बनकटी मंे दर्ज न करने पर नाराजगी जतायी।
 यूनिसेफ के आलोक राय ने बताया कि आरआरटी टीम द्वारा होमआइसोलेशन रह रहे मरीजो को विजिट करने की रिपोर्ट प्रत्येक दिन शाम को 07.00 बजे तक पोर्टल पर अपलोड करना अनिवार्य है। प्रत्येक दिन रात में 10.00 बजे इसकी रिपोर्ट मा0 मुख्यमंत्री को समीक्षा हेतु प्रस्तुत की जायेंगी। इस संबंध में जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि आरआरटी टीम द्वारा विजिट किए गये मरीजो का विवरण समयानुसार पोर्टल पर अपलोड कराना सुनिश्चित करें।
Comments
Popular posts
ॐ नमो ब्रह्मनदेवाय गो ब्राह्मण हिताय च!
30 लाख की फिरौती के फ़ेर में छात्रा की हत्या
सरकार को कानून व्यवस्था का दंभ, अपराधियों ने किया नाक में दम! लखनऊ में 7 साल की मासूम से अगवा कर दरिंदगी; 1 आरोपी गिरफ्तार, दूसरा फरार! हाईकोर्ट के पास सरेराह चौराहे पर महिला वकील की मोबाइल छीन लुटेरा फरार छात्रों के दो गुटों में संघर्ष, एक की मौत!
Image
योगी के यूपी में दो साल में जबरन धर्मांतरण के 291 मामले दर्ज, 507 गिरफ्तार
Image
साई बाबा के पिता पिंडारी मुसलमान थे,इनका काम भारत मे लूटपाट करना था
Image