विकास का लक्ष्य शत प्रतिशत प्राप्त करे

 बस्ती 09 मार्च  मण्डलायुक्त अनिल कुमार सागर ने मार्च माह में सभी विकास कार्यों में शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने का विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया है। मंडलीय समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि आई0जी0आर0एस0 पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों का समय से निस्तारण सुनिश्चित कराएं। डिफाल्टर श्रेणी में आने पर इसे गंभीरता से लिया जाएगा। आयुक्त सभागार में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में उन्होंने वर्तमान प्रगति पर संतोष व्यक्त किया तथा निर्देश दिया है कि मार्च माह में सभी लक्ष्य हासिल किए जाएं। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए।



         उन्होंने कहा कि निर्देश दिए जाने के बावजूद कई मंडलीय अधिकारियों ने अपने जिला कार्यालयों का निरीक्षण नहीं किया है और न ही योजनाओं की प्रगति की समीक्षा किया है। उन्होंने पुनः सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने जिला स्तरीय कार्यालयों का निरीक्षण करके निरीक्षण आख्या उन्हें उपलब्ध कराएं। अवस्थापना एवं योजनाओं की प्रगति संबंधी कोई कमी पाए जाने पर वहां के जिलाधिकारी से मिलकर इसकी जानकारी दें। उन्होंने निर्देश दिया कि निरीक्षण आख्या उन्हें भी उपलब्ध कराई जाए।

        उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि बिजली मद में प्राप्त धनराशि विद्युत विभाग को भुगतान कराना सुनिश्चित करें। साथ ही अवशेष के लिए विभाग से मांग पत्र भेजें। समीक्षा में उन्होंने पाया कि मंडल में रु0 6980 लाख विभिन्न विभागों का बिजली का बकाया है। फरवरी माह में रुपया 2486 लाख का विभिन्न विभागों द्वारा भुगतान भी किया गया है। उन्होंने निर्देश दिया कि बिजली बिल का भुगतान करने के बाद उसका समायोजन विद्युत विभाग से अवश्य करा लें।

        सड़क निर्माण के कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि किसी प्रकार का भूमि विवाद होने पर तत्काल संबंधित उप जिलाधिकारी के संज्ञान में लाएं। इसी प्रकार उन्होंने सेतु निर्माण की समीक्षा किया। सेतु निगम के परियोजना प्रबंधक ए0के0 सिंह ने बताया कि मंडल में 21 पुलों पर निर्माण का कार्य चल रहा है। उन्होंने बताया कि बस्ती में एक पुल का क्षेत्र वन विभाग में पड़ने के कारण कार्य नहीं शुरू कराया गया है और उसकी शासन से अनुमति ली जा रही है।

         मंडलायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की विस्तृत समीक्षा किया। उन्होंने निर्देश दिया कि कोविन पोर्टल पर पहला और दूसरा डोज लगाए गए सभी व्यक्तियों का डाटा अपलोड करें। सुनिश्चित करें कि डुप्लीकेट डाटा फीड न किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि शासन के निर्देश पर संचालित अभियान के दौरान सभी लाभार्थियों का आयुष्मान गोल्डन कार्ड बन जाय। बीएलई अब निःशुल्क गोल्डन कार्ड बनाएंगे। इसमें लाभार्थी को कोई धनराशि नहीं देनी होगी। पूर्व में प्रत्येक कार्ड के लिए रू0 30 लाभार्थी को देना होता था। उन्होंने परिवार नियोजन, प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना में आयुष्मान कार्ड धारकों के इलाज की स्थिति, नियमित टीकाकरण, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का निर्माण, पीपीपी परियोजनाओं तथा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की समीक्षा किया।

         उन्होने निर्देश दिया कि बस्ती के भानपुर अस्पताल में कोल्ड चेन मेनटेन करने की व्यवस्था सुनिश्चित कराये। यूनिसेफ प्रतिनिधि द्वारा अवगत कराने पर मण्डलायुक्त ने निर्देश दिया कि नवजात के घर आशाओं का भ्रमण बढाया जाय। साथ ही बीएचएनडी सत्र में शतप्रतिशत वजन मशीन, बीपी मशीन एवं अन्य जाॅच की सुविधा उपलब्ध करायी जाय। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाउण्ड कराया जाय।  

         उन्होंने गर्मी मौसम को देखते हुए सभी ब्लॉकों में खराब इंडिया मार्क-2 हैंडपंप का सर्वे कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने पंचायती राज विभाग को निर्देशित किया कि ग्राम पंचायतों के माध्यम से सभी हैंडपंप समय से ठीक करा लिया जाए ताकि लोगों को पेयजल की असुविधा न हो। उन्होंने सामुदायिक शौचालय तथा पंचायत भवनों के निर्माण में तेजी लाने का निर्देश दिया। उल्लेखनीय है कि मंडल में 3075 के सापेक्ष 2184 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय बन गए हैं। इसी प्रकार कुल 1811 के सापेक्ष 605 पंचायत भवन का निर्माण पूरा हो गया है।

         उन्होंने कन्या सुमंगला योजना की समीक्षा करते हुए बच्ची के जन्म के समय योजना का फार्म भरवाते हुए पोर्टल पर अपलोड करने का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि बीएसए एवं डीआईओएस अपने स्तर पर लंबित आवेदन पत्रों का एक सप्ताह में निस्तारण करके अवगत कराएं। उल्लेखनीय है कि मंडल में 9712 आवेदन पत्र इस योजना में प्राप्त हुए थे, जिसमें से 4317 लाभार्थियों को धनराशि उनके खाते में उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा सैम एवं मैम बच्चों को चिन्हित करने में सक्रियता बरतने तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा परीक्षण कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक सैम एवं मैम बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराकर उनका इलाज भी कराएं।

         मंडलायुक्त ने नई सड़कों का निर्माण, सोलर फोटोवॉल्टिक सिंचाई पंप, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, निराश्रित गोवंश को संरक्षित करना, मातृत्व स्वास्थ्य कार्यक्रम, ऑपरेशन कायाकल्प, अमृत योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, मत्स्य पालन, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, सामाजिक वनीकरण, गन्ना मूल्य भुगतान एवं स्वरोजगार योजनाओं की विस्तृत समीक्षा किया। 

        बैठक का संचालन संयुक्त विकास आयुक्त अनिल कुमार सिंह ने किया। बैठक में जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल, दीपक मीणा, दिव्या मित्तल, सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका, अतुल मिश्र, अपर निदेशक स्वास्थ्य डाॅ0 सीके शाही, उपनिदेशक अर्थ एवं संख्या एन0 एन0 राय, पंचायत के अमरजीत सिंह, समाज कल्याण के संजय नाथ तिवारी, अधीक्षण अभियंता विद्युत आरबी कटियार, जल निगम के विशेश्वर प्रसाद, उप निदेशक मत्स्य जीसी यादव एवं विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

----------

Comments
Popular posts
ॐ नमो ब्रह्मनदेवाय गो ब्राह्मण हिताय च!
बिना बी एस सी बीएड के 17 वर्ष की अल्पायु में शिक्षक और अब पेंशन भी जारी बस्ती शिक्षा विभाग का बड़ाखेल!
सरकार को कानून व्यवस्था का दंभ, अपराधियों ने किया नाक में दम! लखनऊ में 7 साल की मासूम से अगवा कर दरिंदगी; 1 आरोपी गिरफ्तार, दूसरा फरार! हाईकोर्ट के पास सरेराह चौराहे पर महिला वकील की मोबाइल छीन लुटेरा फरार छात्रों के दो गुटों में संघर्ष, एक की मौत!
Image
नहर में ट्रैक्टर गिरने से दो की मौत
Image
अब मुख्तार के दो बेटों पर भी 25-25हजार के इनाम घोषित!