मुख्तार गैंग के सफाई: मुख्तार गैंग से जुड़े दो शार्प शूटरों को यूपी एसटीएफ ने मार गिराया .

 

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। 


प्रयागराज में यूपी एसटीएफ ने दो इनामी बदमाशों को एनकाउंटर में ढेर कर दिया।मुठभेड़ में 50 हजार का इनामी बदमाश वकील पाण्डेय और उसका साथी अमजद मारा गया। इस एनकाउंटर में मारा गया 50 हजार रुपये का इनामी वकील पाण्डेय उर्फ राजीव पाण्डेय उर्फ राजू माफिया मुन्ना बजरंगी और दिलीप मिश्रा गैंग का कुख्यात शार्प शूटर था। ये जानकारी अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था उत्तर प्रदेश प्रशान्त कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि वकील पाण्डेय उत्तर प्रदेश में भदोही जिले के गोपीगंज थाना इलाके का रहने वाला था। गुरुवार तड़के यूपी एसटीएफ ने प्रयागराज में हुई मुठभेड़ में वकील पाण्डेय और उसके साथी अमजद को ढेर कर दिया।मुुुुठभेड़ में मारा गया दूसरा शार्प शूटर एच.एस.अमजद उर्फ अंगद उर्फ पिंटू उर्फ डॉक्टर भदोही के रामसहायपुर थाना इलाके का निवासी था। एसटीएफ अधिकारी नवेन्दु कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम के साथ प्रयागराज में नैनी के अरैल में हुए एनकाउंटर में दोनों इनामी बदमाश ढेर हो गये। पुलिस ने मौके से 30 और 9 एमएम की पिस्टल, जिंदा कारतूस, खोखा और एक मोटरसाइकिल बरामद किया है।


2013 में वकील पाण्डेय और अमजद ने माफिया मुन्ना बजरंगी और मुख्तार अंसारी के इशारे पर वाराणसी के तत्कालीन डिप्टी जेलर अनिल कुमार त्यागी की हत्या कर सनसनी फैैैला दिया था। इसके बाद 17 जून 2020 को सोशल मीडिया पर भदोही की ज्ञानपुर विधान सभा सीट से विधायक विजय मिश्रा का एक पत्र वायरल हुया था। जिसमें उन्होंने शार्प शूटर वकील पाण्डेय से अपनी जान को खतरा बताया था। विधायक विजय मिश्रा ने यह पत्र अपने लेटर पैड पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लेटर लिखा था।



28 मई 2020 को माफिया दिलीप मिश्रा के कॉलेज से गिरफ्तार खान मुबारक गैंग से जुड़े एक लाख रुपये के इनामी बदमाश नीरज सिंह ने पूछताछ में बताया था कि माफिया दिलीप मिश्रा के कहने पर मैंने वकील पाण्डेय के साथ मिलकर सुजीत सिंह, जो आरएसएस से संबंध रखते हैं को मारने की साजिश रची थी।इसके अलावा नन्हे खान के दमाद समील अहमद जो सपा के नेता भी हैं, की हत्या करने के लिए तीन बार रेकी की थी।लेकिन नीरज सिंह के पकड़ जाने के कारण हत्या नहीं हो पाई थी।

झारखंड के कोयला माफिया और धनबाद के डिप्टी मेयर नीरज सिंह की हत्या में शामिल मुन्ना बजरंगी का शूटर अमन सिंह, जो वर्तमान समय में रांची के होटरवार जेल में है।उसके कहने पर वकील पाण्डेय और अमजद अपने साथियों के साथ मिलकर रांची के होटरवार जेल में अमन सिंह का दबदबा  स्थापित करने के लिए एक जेल अधिकारी की हत्या करके सनसनी फैलाना चाहते थे।लेकिन एसटीएफ ने 11 फरवरी 2021 को वकील पाण्डेय और अमजद के साथी अभिनव प्रताप सिंह उर्फ वरूण को पकड़ लिया, जिससे अपराधी वारदात को अंजाम नहीं दे पाए। इस बात की पुष्टि अभिनव सिंह ने अपने बयान में भी की थी।

Comments
Popular posts
सरकार को कानून व्यवस्था का दंभ, अपराधियों ने किया नाक में दम! लखनऊ में 7 साल की मासूम से अगवा कर दरिंदगी; 1 आरोपी गिरफ्तार, दूसरा फरार! हाईकोर्ट के पास सरेराह चौराहे पर महिला वकील की मोबाइल छीन लुटेरा फरार छात्रों के दो गुटों में संघर्ष, एक की मौत!
Image
ॐ नमो ब्रह्मनदेवाय गो ब्राह्मण हिताय च!
साई बाबा के पिता पिंडारी मुसलमान थे,इनका काम भारत मे लूटपाट करना था
Image
कलक्टर बस्ती का आग्रह सब योगदान करें टीका अभियान में!
Image
यूपी की बाराबंकी जेल में 26 कैदी एचआईवी पॉजीटिव मिलने से हड़कंप
Image