"एलबीआरवाई कंपनी के एमडी की 43 लाख रुपए की संपत्ति डीएम ने किया जब्त" * कुमारगंज एवं इनायत नगर थाना के प्रभारी निरीक्षकों की विशेष उपलब्धि।

 


मिल्कीपुर, अयोध्या।
अपराध पर रोकथाम  एवं अपराधियों के पकड़ धड़ को लेकर चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत अयोध्या जनपद के कुमारगंज पुलिस को बहुत बड़ी कामयाबी हाथ लग गई है। कुमारगंज एवं इनायत नगर थाने के प्रभारी निरीक्षकों की टीम ने पोंजी कंपनी खोलकर करोड़ों का चूना लगाने वाले कंपनी के एमडी को गिरफ्तार करने के दौरान उसके कब्जे से प्राप्त 43 लाख रुपए कीमती संपत्ति को जिलाधिकारी अनुज कुमार झा के आदेश पर जब्त कराए जाने की सफलता प्राप्त कर ली है। बताते चलें कि अंकित अग्रहरि पुत्र लालचन्द निवासी लोहंगी धनपतगंज थाना कूरेभार जनपद सुल्तानपुर द्वारा एल बी आर वाई (ड्रीम बुलियन) नाम से चिटफंड कंपनी खोलकर क्षेत्रवासी लोगों को धन दोगुना करने का झांसा देकर करोड़ों रुपए की ठगी की गई थी और निवेशकों को उनके पैसे वापस नहीं किए गए थे। जिसके आरोप में जिले के खंडासा और कुमारगंज सहित अन्य थानों में आधा दर्जन से अधिक धोखाधड़ी सहित गंभीर आपराधिक मुकदमे निवेशकों द्वारा दर्ज कराए गए थे। 
जिनमें से 2 मुकदमों के आरोप में कुमारगंज पुलिस ने लगभग एक वर्ष पूर्व गिरफ्तार करते हुए उसके कब्जे से एक फॉर्च्यूनर गाड़ी बरामद की थी और आरोपी युवक को जेल भेज दिया था जेल में निरुद्ध अंकित अग्रहरि  जमानत पर  जेल से छूटने के बाद उपरोक्त अंकित काफी दिनों से बाहर  होने के बाद अन्य मुकदमे मे भी फरार हो गया था और पुलिस के शिकंजे से बच रहा था। कुमारगंज पुलिस ने चिटफंड कंपनी के एमडी अंकित अग्रहरि के विरुद्ध यूपी गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्यवाही की थी। प्रभारी निरीक्षक नीरज सिंह के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम धोखाधड़ी सहित गंभीर आपराधिक धाराओं के मुकदमे में वांछित चल रहे शातिर अंकित अग्रहरि की गिरफ्तारी में पुलिस टीम प्रयासरत थी। बीते  27 फरवरी को आरोपी वांछित ड्रीम बुलियन कंपनी के एमडी के कुमारगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत रमेश नगर दो नहरा के पास मौजूद होनेे की पुलिस टीम को मिली थी। सूचना मिलते ही प्रभारी निरीक्षक नीरज सिंह अपने साथ उप निरीक्षक आशीष कुमार यादव एवं हेड कांस्टेबल विनोद कुमार तथा सिपाही फिरोज आलम के साथ मौके पर पहुंच गए थे। जिन्हें देख वांछित आरोपी युवक भागने लगा किंतु पुलिस टीम की सक्रियता से वह धर दबोचा गया था। पकड़े गए युवक को पुलिस टीम फॉर्च्यूनर कार यूपी 32 के पी 0 116 थाने ले आई। 
पुलिस टीम द्वारा तलाशी लिए जाने के दौरान युवक अंकित के पास से 01 अदद ब्रेसलेट पीली धातु, 01 अदद जंजीर पीली धातु व 01 अदद मोबाइल वन प्लस ब्राण्ड जो अपनी चिट फंड कम्पनी एल बी आर वाई लिमिटेड में निवेशको द्वारा जमा कराये गये रुपयो से खरीदा था व नगद रुपये 4 हजार 7 सौ 50 रुपए व 02 अदद आईसीआई बैंक के ब्लैंक चेक प्राप्त हुए जो एल बी आर वाई कंपनी लिमिटेड से संबंधित थे बरामद हुए थे। प्रभारी निरीक्षक नीरज सिंह ने पकड़े गए वांछित अभियुक्त अंकित अग्रहरि को थाने में दर्ज आधा दर्जन से अधिक धोखाधड़ी एवं यूपी गैंगस्टर एक्ट के मुकदमों के आरोप में जेल भेजते हुए उसके कब्जे से प्राप्त संपत्ति संपत्तियों को जप्त किए जाने हेतु संस्तुति सहित रिपोर्ट डीआईजी दीपक कुमार के  माध्यम से जिलाधिकारी को प्रेषित कर दिया था। जिसके आधार पर जिला अधिकारी अनुज कुमार झा ने त्वरित कार्यवाही करते हुए यूपी गैंगस्टर एक्ट  14 (1) के तहत  प्राप्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए आरोपी पोंजी कंपनी के एम डी अंकित अग्रहरि की 40 लाख रुपए कीमती फॉर्च्यूनर कार तथा उसके कब्जे से बरामद सोने की ब्रेसलेट एवं चयन तथा मोबाइल मिलाकर  43 लाख रुपए कीमती संपत्ति जप्त किए जाने के आदेश देेे दिए हैं।

Comments
Popular posts
ॐ नमो ब्रह्मनदेवाय गो ब्राह्मण हिताय च!
बिना बी एस सी बीएड के 17 वर्ष की अल्पायु में शिक्षक और अब पेंशन भी जारी बस्ती शिक्षा विभाग का बड़ाखेल!
सरकार को कानून व्यवस्था का दंभ, अपराधियों ने किया नाक में दम! लखनऊ में 7 साल की मासूम से अगवा कर दरिंदगी; 1 आरोपी गिरफ्तार, दूसरा फरार! हाईकोर्ट के पास सरेराह चौराहे पर महिला वकील की मोबाइल छीन लुटेरा फरार छात्रों के दो गुटों में संघर्ष, एक की मौत!
Image
नहर में ट्रैक्टर गिरने से दो की मौत
Image
अब मुख्तार के दो बेटों पर भी 25-25हजार के इनाम घोषित!