मादक द्रव्यों का कुख्यात तस्कर जाबिर ढाई करोड़ की हिरोइन के साथ गिरफ्तार




मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ


उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में दागी पुलिस, नेताओं और कथित पत्रकारों के संरक्षण में पलने वाला कुख्यात तस्कर जाबिर नाई को 500 ग्राम हीरोइन व अन्य नशीले पदार्थों के साथ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पकड़ा गया शातिर फिरोजाबाद का सबसे बड़ा तस्कर है। जिले के रसूलपुर थाने में जिसकी हिस्ट्रीशीट भी खुली है। पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद पूंछ-तांछ में जाबिर ने अपने साथ जुड़े कुछ सफेदपोश नेताओं, लोकल चैनल के पत्रकारों व पुलिसकर्मियों के शामिल होने की बात कुबूल की है। हमने इस नापाक गठजोड़ (पुलिस-नेता-पत्रकार) की जांच एडिशन एसपी मुकेश मिश्रा को सौंपी है। जाबिर का गिरोह मुंबई, दिल्ली, हरियाणा राजस्थान व पंजाब में सक्रिय है। वह पाकिस्तान से हीरोइन लाकर भारत के विभिन्न शहरों में भेजता है। उसके निशाने पर युवा वर्ग रहता है। जिसके तहत वह पढ़ने वाले युवाओं के साथ दिल्ली-मुंबई में स्ट्रगल कर रहे लोगों को पैसे कमाने का लालच देकर फंसाते हैं।




पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर 500 ग्राम हेरोइन के साथ कुख्यात अपराधी जाबिर पुत्र महबूब खां निवासी गालिब नगर थाना रसूलपुर को अरेस्ट कर लिया। बरामद हेरोइन की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में लगभग ढाई करोड़ रुपये आंकी गई है। पुलिस के अनुसार पकड़ा गया आरोपी जनपद फिरोजाबाद का सबसे बड़ा तस्कर व कुख्यात सटोरिया है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से पांच किलोग्राम से अधिक गांजा भी बरामद किया है। कुख्यात जाबिर के खिलाफ वर्ष 1999 से लेकर अब तक 20 से अधिक मामले दर्ज हैं। वह थाना रसूलपुर का हिस्ट्रीशीटर अपराधी है। पुलिस को जानकारी मिली है कि जाबिर के नेटवर्क में कुल 14 लोग शामिल हैं। उक्त लोगों की गिरफ्तारी के लिए पांच टीमों का गठन किया गया है।



कुख्यात तस्कर से पूछताछ में यह तथ्य भी सामने आया है कि उसके सपोर्ट में कुछ सफेदपोश, कुछ पुलिस कर्मी और कुछ स्थानीय स्तर के मीडियाकर्मी भी रहते हैं। इसकी गहनता के साथ जांच की जा रही है। एसपी अजय कुमार ने बताया कि जांच में जो भी दोषी पाया जायेगा, उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी। दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा। बड़ी कामयाबी हासिल करने वाली पुलिस टीम को एसएसपी फिरोजाबाद अजय कुमार ने 25 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने बताया कि पिछले तीस वर्षों से जाबिर नाई इस धंधे से जुड़ा हुआ है। उसने यहां के युवाओं की जिंदगी बर्बाद किया है। कुख्यात तस्कर को अरेस्ट करने से पुलिस का मनोबल ऊंचा हुआ है।

Comments