टेंडर के बाद भी कार्य काम न होने पर कलक्टर ने जताई नाराजगी !

 


बस्ती 22 दिसंबर 2020 
, जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने नगर पालिका बस्ती तथा रूधौली में स्थायी गोआश्रय स्थल पर निर्माण कार्य शुरू कराने के लिए दोनों अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित किया है। कलेक्टेªट सभागार में आयोजित नगर निकाय की समीक्षा बैठक में उन्होने टेण्डर हो जाने के बावजूद अभी तक कार्य न शुरू कराने पर नाराजगी व्यक्त किया है।
उल्लेखनीय है कि नगर पालिका बस्ती में बाॅसी रो

ड पर बहुडर तथा रूधौली मेें रू0 1.65 करोड़ की लागत से दो गोआश्रय स्थल का निर्माण कराया जाना है। उन्होने सभी एसडीएम को निर्देश दिया कि वे नगर निकायों के निर्माण कार्य एवं साफ-सफाई व्यवस्था की नियमित निरीक्षण करें तथा रिपोर्ट दें।  

जिलाधिकारी ने नगर निकायों को कोविड-19 से रोकथाम एंव बचाव के लिए शासन से प्राप्त धनराशि से कोई कार्य न कराये जाने पर नाराजगी व्यक्त किया है। उन्होने कहा कि शासनादेश के अनुसार निर्धारित कार्यो के लिए इस धन को व्यय किया जाना है। इसके लिए उन्होने अपर जिलाधिकारी, सीएमओ तथा मुख्य कोषाधिकारी की समिति का गठन किया है।
उन्होने नगर पालिका बस्ती में संचालित अमृत योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया है कि वाटर मीटर शतप्रतिशत स्थापित कराये। जलापूर्ति के लिए कराये जा रहे कार्यो में शिथिलता पाये जाने पर उन्होने असंतोष व्यक्त किया। उन्होने एडीएम को निर्देश दिया कि नगर पालिका से संबंधित साफ-सफाई, कूड़ा निस्तारण, प्रकाश एंव जलापूर्ति व्यवस्था संबंधी शिकायतो की प्राप्ति के लिए कंट्रोल रूम स्थापित कर तथा उसका निस्तारण करायें।
उन्होने निर्देश दिया कि ठण्ड को देखते हुए नगर पालिका एंव नगर पंचायत अपने क्षेत्र में पर्याप्त संख्या में अलाव जलवाये, कम्बल वितरित करे तथा रैनबसेरा संचालित करें। इसकी आपदा पोर्टल पर फीड़िंग भी कराये। उन्होने अधोमानक पालीथिन के विरूद्ध प्रत्येक सप्ताह अभियान चलाने का निर्देश दिया। अभी तक रू0 6.57 लाख अवैध पालीथिन से जुर्माना वसूल किया गया।
जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि बस्ती तथा हर्रैया नगर निकाय ओडीएफ प्लस हो गये है, जबकि अन्य नगर निकाय बभनान, रूधौली, बनकटी में इसके लिए प्रयास चल रहा है। बनकटी में व्यक्तिगत शौचालय तथा बभनान मेें सामुदायिक शौचालय का निर्माण पूरा न पाये जाने पर दोनो अधिशासी अधिकारियों को स्पष्टीकरण तलब करने के लिए जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है।
उन्होने सामुदायिक शौचालयों के रख-रखव के लिए स्वयं सहायता समूहों को इसे आवंटित करने का निर्देश दिया। उन्होने राज्य वित्त 14वे तथा 15वें वित्त से प्राप्त धनराश के उपभोग की समीक्षा किया। बैठक का संचालन अपर जिलाधिकारी अभय कुमार मिश्र ने किया। इसमें एसडीएम आशाराम वर्मा, नीरज प्रसाद पटेल, आनन्द श्रीनेत, अधिशासी अधिकारी अखिलेश त्रिपाठी तथा अन्य नगर निकायों के अधिशासी अधिकारीगण उपस्थित रहें।
Comments