"पति-पत्नी के झगड़े को एक दिनी कोतवाल निशा तिवारी ने सुलझाया" * एक दिन के लिए इनायतनगर कोतवाल बनीं निशा तिवारी।


मिल्कीपुर, अयोध्या।
   महिला सशक्तिकरण के बाबत एक विशेष अभियान के तहत इनायतनगर कोतवाल के रूप में एक दिन के लिए छात्रा निशा तिवारी कोतवाल बनीं। निशा तिवारी को कोतवाली इनायतनगर का एक दिन का कोतवाल बनाया गया। निशा तिवारी के सामने कुल 20 मामले आए। जिनमें से जमीनी प्रकरण से संबंधित मामलों को राजस्व विभाग को स्थानांतरित कर दिया और जो मामले पुलिस विभाग से संबंधित थे। उनका त्वरित निस्तारण किया। बातचीत के दौरान निशा ने बताया की सबसे अधिक रोचक एक परिवारिक प्रकरण आया जोकि परिवारिक विवाद से संबंधित था। जिसका त्वरित निस्तारण मौके पर ही कराया गया और पति-पत्नी ने आपसी सहमति जताते हुए ए
साथ फिर से रहने का फैसला किया। 

निशा के इस फैसले की हर किसी ने तारीफ की।इनायतनगर प्रभारी निरीक्षक विजयसेन सिंह ने कहा कि क्षेत्र की बेटियों को निर्भय होकर के अपने कैरियर को आगे बढ़ाने के लिए हमेशा संघर्षरत रहना चाहिए और अराजकतत्वों से बिल्कुल डरने की जरूरत नहीं है। 
एसएचओ इनायतनगर ने यह भी कहा कि अगर क्षेत्र की बेटियों को कोई समस्या होती है तो वह निःसंकोच थाना परिसर में आ सकती हैं। उनके लिए एक स्पेशल केबिन मिशन नारी शक्ति बनाया गया है। जिसमें नारी सुरक्षा, नारी सम्मान एवं नारी स्वावलंबन के प्रकरण को वरीयता दी गई है। 
इस मौक़े पर विधायक मिल्कीपुर बाबा गोरखनाथ भी पहुंचे और बिटिया निशा तिवारी को साल देकर के सम्मानित किया।इस अवसर पर विधायक ने एक दिनी कोतवाल को मौलश्री का पौधा देकर पर्यावरण संरक्षण का भी संदेश दिया। विधायक बाबा गोरखनाथ ने छात्रा निशा तिवारी के सुनहरे भविष्य की कामना करते हुए शुभकामनाएं दी।विधायक श्री बाबा ने मिल्कीपुर विधानसभा क्षेत्र की बेटियों के लिए एक अपील की कि विधानसभा क्षेत्र की बेटियां पढ़ें और आगे बढ़ें। 
जिससे कि मिल्कीपुर विधानसभा क्षेत्र अपनी बेटियों के ऊपर गौरवान्वित हो सके। विधायक ने कहा कि इनायतनगर पुलिस बेटियों की सुरक्षा एवं संरक्षा हेतु सजग एवं तत्पर है। हमारी सरकार बेटियों के सुरक्षा सम्मान और स्वावलंबन हेतु सदैव तत्पर है।मिल्कीपुर पुलिस क्षेत्राधिकारी कोमल मिश्रा ने भी निशा तिवारी को शुभकामनाएं दी है।

Comments