डॉ होम्योपैथ,दवा एलोपैथ जान भी ली जहांन (प्रतिष्ठा) भी गवाया,अस्पताल भी सील!

 बस्ती, उत्तरप्रदेश6 दिसम्बर

अच्छा स्वास्थ्य सरकार का वादा, झोलाछाप डॉक्टरों का वादा हम धन व प्राण दोनो हरेगे,हुआ वही जिसका अंदेशा था,होम्योपैथ का डॉक्टर एलोपैथ से अज्ञानता,अल्पज्ञता पूर्ण इलाज कर रहा था और मरीज की जान लेकर ही माना, अस्पताल भी सील कराया !
हुआ यह कि हरैया स्थित, एकांश हास्पिटल ,को शनिवार को प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सील कर दिया। हास्पिटल में एक मरीज की मौत के बाद इसकी शिकायत एसडीएम हर्रैया से हुई थी। हास्पिटल पर इलाज में लापरवाही का आरोप है।
एसीएमओ डॉ. सीएल कन्नौजिया व प्रशिक्षु एसडीएम अनुपम मिश्रा की टीम हास्पिटल पहुंची तथा वहां अभिलेखों की जांच की। डॉ. कन्नौजिया ने बताया कि हास्पिटल की ओपीडी सहित अन्य रिकार्ड उपलब्ध नहीं हैं। जिस मरीज की मौत का मामला है, उससे सम्बंधित रिकार्ड भी हास्पिटल प्रबंधन टीम को उपलब्ध नहीं करा सका। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों एक मरीज फोड़े की शिकायत लेकर हास्पिटल आया था। वहां पर उसे इंजेक्शन लगाया गया। कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई।

प्रथमत:  हास्पिटल संचालक होम्योपैथ के डॉक्टर हैं। पूछताछ में मालूम हुआ है कि इंजेक्शन किसी चिकित्सक के परामर्श के बजाए मेडिकल स्टोर के फार्मासिस्ट के परामर्श पर लगाया गया। अस्पताल में कुप्रबंधन दिखा है। जो रिकार्ड मांगे गए, प्रबंधन उसे उपलब्ध नहीं करा सका, इसलिए अस्ताल को तत्काल प्रभाव से सील कर दिया गया है। संचालक से कहा गया है कि वे अपने रिकार्ड दुरूस्त कर एमओआईसी हर्रैया डॉ. आरके यादव से उसकी जांच करा लें। इसके बाद खुद उनके स्तर से अस्पताल की जांच की जाएगी। सभी मानक पूरा होने पर ही संचालन की अनुमति दी जाएगी।
असल बात तो यह है ऐसे अनेक अस्पताल जनपद में चल रहे हैं पर जिस मुख्य चिकित्साधिकारी की जनपद के स्वास्थ्य की रखवाली का काम है वही सो रहा है।


Comments