कोहरे ने कम कर दिया वाहनों और जन जीवनकी रफ्तार

 




जौनपुर,उत्तरप्रदेश
 हर रोज बदल रहे मौसम के मिजाज जनपद वासियों   पर दोहरी मार पड़ रही है। इधर छाया कोहरा, उधर वायु प्रदूषण मुसीबत बढ़ा रहा है। बुधवार को तड़के इतना ज्यादा कोहरा छाया कि इलाहाबाद गोरखपुर, वाराणसी लखनऊ सहित तमाम मार्गों पर वाहनों का आवागमन प्रभावित होता रहा। 60 से 90 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ने वाले छोटे-बड़े वाहनों की रफ्तार इतनी कम थी कि मिनटों का सफर घंटों में तय हुआ है। पूर्वान्ह 11 बजे के बाद मौसम साफ हुआ और मामूली धूप निकली तब लोगों को राहत मिली। पिछले डेढ़ दो माह से वायु प्रदूषण के बढ़ने से अब ठंड के मौसम में श्वास, हार्ट और आंखों में जलन संबंधी मरीजों की संख्या में बढ़ने लगी है। 
प्रदूषण नियंत्रण   ठंड बढ़ने के साथ कोहरा छाने से एक्यूआइ कम नहीं हो रहा है।  बसों की संख्या कम होने के कारण लोगों को असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। घंटों तक बस स्टैंड और सड़क के किनारे खड़े होकर लोग बसों का इंतजार करने को मजबूर है। रोडवेज बसों भी निर्धारित बस स्टैंडों पर नहीं रूक नहीं है, वहीं प्राइवेट बसों में यात्रियों को मानक से ज्यादा भरकर ले जाया जा रहा है। यात्रियों  ने कहा कि बसों की कम संख्या कम होने के कारण परेशानी हो रही है। रोडवेज विभाग बसों की संख्या बढ़ा दे तो यात्री समय से गंतव्य तक पहुंच सके। वहीं कोरोना से भी बचाव हो सकेगा। अगर इसी तरह हालत बने रहे तो बीमारी भी बढ़ेगी और लोगों के सामने परेशानी भी।

Comments