"विकास कार्यों की जांच करने गांव पहुंची टीम तो मचा हड़कंप" * आनन-फानन में ग्राम प्रधान ने। शुरू कराया खड़ंजा निर्माण कार्य।

 



मिल्कीपुर, अयोध्या।
 हैरिंग्टनगंज ब्लॉक के ग्राम सोहवल सलोनी में ग्राम पंचायत निधि से कराए गए विकास कार्यों पर गांव के ही लोगों ने सवाल खड़ा कर दिया है। शिकायतकर्ता एवं ग्रामवासी राजेश कुमार मिश्र ने मुख्यमंत्री सहित जिलाधिकारी को दिए शिकायती पत्र पर आरोप लगाया है कि ग्राम सोहावल सलोनी के ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सचिव द्वारा मिलीभगत करके सरकारी धन का लूटखसोट किया गया है। दिए गए शिकायती पत्र में आरोप लगाया गया है कि वर्तमान ग्राम प्रधान अमरनाथ यादव पंचायत सचिव से साठगांठ करके शासन द्वारा संचालित योजनाओं में धन की खुल्लम-खुल्ला लूट कर रहे हैं। 

कहा गया कि इसके पूर्व इनकी माता सोनपती ग्राम प्रधान थी। अमरनाथ यादव दोबारा ग्राम प्रधान चुने गए हैं। अमरनाथ और उनकी माता को मिलाकर तीन पंचवर्षीय योजनाओं में प्रधान रहे हैं। इस कार्यकाल में ग्राम प्रधान द्वारा नाली खड़ंजा, आवासीय योजना,मिट्टी पटाई सहित अन्य विकास कार्यों में बड़े पैमाने पर अनियमितता की गई है। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि ग्राम प्रधान पंचायत सचिव से सांठगांठ करके सरकारी धन की बंदरबांट कर रहे हैं। कराए गए विकास कार्यों की स्थलीय जांच करने पर सारा मामला उजागर हो जाएगा। शिकायत के बाद जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने दो अधिकारियों की विशेष जांच कमेटी बनाई। जिसमें जिला कृषि अधिकारी बृजेश कुमार सिंह एवं अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण निगम जांच अधिकारी बनाये गए।

 जांच टीम जब ग्राम सोहावल सलोनी पहुंची तो ग्राम प्रधान खेमे में हड़कंप मच गया। जिला कृषि अधिकारी और ग्रामीण अभियंत्रण सेवा के अधिशासी अभियंता शुक्रवार को जब सोहवल सलोनी गांव पहुंचे और ग्राम पंचायत में कराए गए विकास कार्यों की नाप जोख करवाने लगे। तो पूरे गांव में हाहाकार मच गया। शिकायतकर्ता ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि ऐसे कई कार्यो के पैसे आहरित कर लिए गए थे। जो कार्य हुए ही नहीं थे। हालांकि जांच टीम ने थोड़ी मोड़ी जांच पड़ताल करने के बाद यह कहा कि डीएम साहब के साथ हमारी मीटिंग है। अब दूसरे दिन हम जांच करने आएंगे। 

शिकायतकर्ता ने बताया कि इसी दौरान ग्राम प्रधान व पंचायत सचिव को अपना कार्य सुधार करने का मौका मिला। और आननफानन में ग्राम पंचायत में मुन्ना मिश्रा के दरवाजे से शौचालय तक खड़ंजा का कार्य करवाया जाने लगा।नया कार्य छुपाने के लिए तुरंत खड़ंजा कार्य पर मिट्टी भी डलवा दी गयी। हालांकि शिकायतकर्ता ने इस गतिविधि की वीडियो और फोटोग्राफी करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पुनः शिकायत दर्ज कराई है। इस बारे में जांच टीम के प्रभारी एवं जिला कृषि अधिकारी बीके सिंह ने बताया कि हम लोग जांच करने सोहवल सलोनी गए थे, लेकिन डीएम साहब की मीटिंग लग जाने की वजह से जांच पूरी नहीं हो पाई है। इधर कई कार्यक्रम लगे हैं, इस वजह से जांच नहीं हो पा रही है। जल्द ही जांच पूरी करके डीएम साहब को अपनी रिपोर्ट दे देंगे।

Comments