जल संवाद युवाओं के साथ संगोष्ठी’ में बताया जल शक्ति का महत्व, पुरस्कृत हुये विजेता

 




बस्ती, वशिष्ठ नगर,भारत,16 दिसम्बर नेहरू युवा केन्द्र और जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त तत्वाधान में बुधवार को बेगम खैर गर्ल्स इण्टर कालेज के हाल में ‘ जल संवाद, युवाओं के साथ संगोष्ठी’ का आयोजन किया गया।


मुख्य अतिथि सुरेश प्रसाद तिवारी ने जल शक्ति के द्वितीय चरण का उद्घाटन करते हुये कहा कि जल है तो कल है। भारतीय मनीषा में जल से ही उत्पत्ति की व्याख्या है। यदि पेयजल को अभी से सुरक्षित, संरक्षित न किया गया तो भविष्य में जल के लिये युद्ध होंगे। कहा कि वर्षा जल को संरक्षित करने के साथ ही जल शक्ति को सामाजिक आन्दोलन बनाने की जरूरत है।
प्राचार्य हरेन्द्र सिंह ने जल शक्ति पर विस्तार से प्रकाश डालते हुये कहा कि  कवि रहीम ने अपने समय में ही जल महिमा को समझ लिया था, रहिमन पानी राखिये, बिन पानी सब सून’। पानी को भारतीय समाज में प्रतिष्ठा से जोड़ा गया है। नदियों की प्रार्थना, पूजा इसी संस्कार का हिस्सा है।
नेहरू युवा केन्द्र के जिला युवा अधिकारी गोपाल भगत ने अतिथियों का स्वागत करते हुये कहा कि युवा पीढी को जल सुरक्षा के प्रति विशेष रूप से सक्रिय भूमिका निभानी होगी।
संगोष्ठी को प्राचार्य निलोफर उस्मानी, अमित कुमार तिवारी, कहकशा बानो, अंजुम परवीन, अलका पाण्डेय, सावित्री उपाध्याय, परवीन बानो, रचना सिंह आदि ने  सम्बोधित कर जल के महत्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर छात्राओं के बीच चित्र कला, भाषण, निबन्ध प्रतियोगिताओं का आयोजित कर विजेताओं को पुरस्कृत करने के साथ ही फिट इण्डिया अभियान के तहत छात्राओं को स्पोर्टस किट दिया गया।
कार्यक्रम संयोजन में प्रेमचन्द्र मौर्य, गौरी गुप्ता, आलोक सिंह, फूल कुमारी, गुडिया चौधरी, ओम प्रकाश मिश्र, शुभम पंत, सूर्य प्रकाश, परशुराम, राजकुमार आदि ने योगदान दिया।
Comments