बस्ती पुलिस को आज मिली बड़ी कामयाबी रेलवे रिजर्वेशन ई-टिकट के साफ्टवेयर रेडमिर्ची तथा ANMS को ऑन लाइन बेचने वाले अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह का किया पर्दाफाश 25,000 हजार इनामी अभियुक्त को किया गिरफ्तार

बस्ती ,उत्तर प्रदेश 10 दिसंबर 2020

    बस्ती पुलिस को आज मिली बड़ी कामयाबी रेलवे रिजर्वेशन ई-टिकट के साफ्टवेयर रेडमिर्ची तथा ANMS को ऑन लाइन बेचने वाले अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह का किया पर्दाफाश 25,000 हजार इनामी अभियुक्त को किया गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक बस्ती  हेमराज मीना के आदेश के क्रम में अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत अपर पुलिस अधीक्षक बस्ती रवीन्द्र कुमार सिंह के निर्देशन में क्षेत्राधिकारी हरैया  शेषमणि उपाध्याय  के निकट पर्यवेक्षण में निरीक्षक जितेन्द्र यादव अपराध शाखा बस्ती,  प्रभारी निरीक्षक रेलवे सुरक्षा बल बस्ती नरेन्द्र यादव,रेलवे सुरक्षा बल गोण्डा निरीक्षक प्रवीण कुमार, व थानाध्यक्ष हरैया  सर्वेश राय के  संयुक्त टीम कार्यवाही में आज दिनांक 10.12.2020 को मु0अ0सं0 269/19 अंतर्गत धारा 419,420,467,468,471ipc तथा 43,65, 66,66c,66D, 70 it act में वांछित/पुरस्कार घोषित अभियुक्त ( ई-टिकट व्यापार में रेडमिर्ची और ANMS सॉफ्टवेयर डवलपर का 1 वर्ष से फरार मुख्य कैशियर और सुपर सेलर) मनोज महतो पुत्र स्व0 बलदेव महतो निवासी मढ़िया पोस्ट सोनबरसा जिला सीतामढ़ी बिहार(नेपाल सीमा से 07 किमी दूरी) को कप्तानगंज चौराहा से गिरफ्तार किया गया  । उक्त अभियुक्त  पर जनपद स्तर पर 25,000 रु0 का इनाम घोषित कर रखा है। 
           
        
अभियुक्तों के पास बरामद सामग्री.
2 अदद लेपटॉप. 2 अदद मोबाइल
03 अदद फ़र्ज़ी आधार कार्ड,ड्राइविंग लाइसेन्स,पैन कार्ड  एवं अन्य दस्तावेज
  12 ATM कार्ड
विभिन्न फ़र्ज़ी पोर्टल में करीब 08 लाख रुपया जमा है, जिसे जब्त कराया गया ।
बैंक के 12 बचत खातो में करीब 02 लाख रुपया जमा जिसे जब्त कराया जा रहा है।  पोस्ट ऑफिस के 09 बचत पत्र तथा सहारा इंडिया के सेविंग बांड 30 बाण्ड जिसमें करीब 16 लाख रुपये जमा हैं जिन्हे जब्त कराया जा रहा है ।नोएडा के प्रोपर्टी के एग्रीमेंट पेपर जिसका मूल्य 1करोड़ 26 लाख है जिसे जब्त कराया जा रहा है ।
गाजियाबाद में प्रॉपर्टी फ्लैट  जिसका मूल्य करीब 18 लाख रुपया है जिसे जब्त कराया जा रहा है ।.  तीन रजिस्टर जिंसमे अवैध साफ्टवेयर के कारोबार से सम्बन्धित लेन देन का विवरण अंकित है जो करीब 12 करोड़ ।

आपको बताते चलें कि  08/12/2019 को ई टिकट के रेडमिर्ची/ ANMS सॉफ्टवेयर बेचने वाले गिरोह की गिरफ्तारी थाना हरैया जनपद बस्ती में मु0अ0सं0 269/19 अंतर्गत धारा 419,420,467,468,471ipc तथा 43,65, 66,66c,66D, 70 it act तथा  रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट गोण्डा पर मु0अ0सं0 2533/19 अंतर्गत 143 रेलवे एक्ट आदि का पंजीकरण किया गया था । जांच के दौरान उक्त सॉफ्टवेयर को हामिद असरफ निवासी रमवापुर थाना कप्तानगंज जनपद बस्ती के द्वारा ऑनलाइन सम्पूर्ण भारत मे बेच कर पैसों को विभिन्न फ़र्ज़ी पोर्टल के माध्यम से नेपाल बॉर्डर सीतामढ़ी बिहार में जाना पाया गया । जिंसमे जांच क्रम में पाया कि आधार कार्ड, पेन कार्ड, मोबाइल नम्बर और दस्तावेज को फ़र्ज़ी बना पोर्टल खाता खोला गया तथा करोड़ो की धनराशि को ब्लैक मनी से नगद कर हवाला के माध्यम से नेपाल भेज दिया जाता है 
बड़ा साइवर अपराध!  रेडमिर्ची/ANMS सॉफ्टवेयर को सम्पूर्ण भारत में ऑनलाइन सुपरसेलर , पैनल एजेंट के जरिये टिकट एजेंटों बेच कर पैसों को विभिन्न डिजिटल तरीके से MOS/मल्टीलिंक, Spay india,  smartshop/TSS और Jaldicash के माध्यम से नेपाल बॉर्डर से सटे जिले सीतामढ़ी बिहार के पोर्टल खातों में ट्रांसफर कर दिया जाता था।  मनोज महतो के द्वारा उक्त खातो के लेनदेन का रिकॉर्ड लिखित रूप में रखा जाता था , जिसके अनुसार वर्ष 2020 तक करीब 12 से 15 करोड़ रुपये को इसी तरीके से रूपांतरण किया गया। MOS/मल्टीलिंक के एक ही फ़र्ज़ी पोर्टल खाता से करीब 6 करोड़ 68 लाख से अधिक की राशि को मनी ट्रांसफर किया गया। 
Comments