मुख्तार अंसारी अपनी आसन्न हत्या की आशंका से नही आना चाहता उत्तरप्रदेश, बहाना बीमारी का !

गुजरात जेल में बंद डॉन अतीक अहमद नहीं चाहता यूपी आना!


 


 


मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ


कल तक जिनके आतंक की तरह-तरह की कहानियां लोग अलग-अलग अंदाज से सुनाते थे आज वह जान बचाने का गुहार लगा रहे हैं। ताजा मामला पूर्व सांसद माफिया अतीक अहमद से जुड़ा है। मुख्तार अंसारी के बाद अतीक अहमद ऐसा दूसरा डॉन है जो प्रदेश के बाहर की जेल में बंद है और यूपी नहीं आना चाहता।यूपी पुलिस बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी पेशी के लिए लाना चाहती है। लेकिन डॉक्टरों की रिपोर्ट का हवाला देकर वह यूपी नहीं आने की गुहार लगाया था।


अब अतीक अहमद ने एमपी एमएलए कोर्ट में अर्जी लगाकर अपने ऊपर चल रहे आपराधिक मामलों की सुनवाई वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए कराने की मांग की है। अतीक को डर है कि यूपी लाने के दौरान कहीं उसकी हत्या न कर दी जाए।बाहुबली ने अपनी अर्जी में कहा है कि न्यायिक अभिरक्षा में कई बंदियों की हत्या हो चुकी है। 2019 में मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में विरोधियों ने हत्‍या कर दी थी। इसके साथ ही कोविड-19 के चलते भी गुजरात से समन न किए जाने की मांग अर्जी में की गई है।


अतीक इन दिनों अहमदाबाद की साबरमती जेल में बंद है। मुन्ना बजरंगी की तरह हत्या होने की आशंका अतीक अहमद के वकील ने एमपी-एमएलए कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। इस अर्जी में मुन्ना बजरंगी की तरह हत्या होने की आशंका जताई गई है।जेल में प्रयागराज से उसका बयान लेने गए एक पुलिसकर्मी ने उसे ऐसी जानकारी दी है कि उसे न्यायिक अभिरक्षा में तलब कर रास्ते में हत्या की साजिश रची जा रही है। अतीक अहमद ने कई बीमारियों से ग्रसित होने का हवाला दिया है। पूर्व सांसद अतीक ने अर्जी में अहमदाबाद से प्रयागराज के बीच 1450 किलोमीटर की दूरी का हवाला देते हुए स्पेशल कोर्ट में चल रहे मुकदमों में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई की मांग की है।


उसका कहना है कि अहमदाबाद की जेल में वह कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ गया है। वह किडनी और रीढ़ की हड्डी की गंभीर बीमारी से पीड़ित है। शुगर टाइप वन और हाई ब्लड प्रेशर का भी शिकार है।इसी आधार पर उसे नैनी से अहमदाबाद हवाई सेवा से ट्रांसफर किया गया था। बता दें कि मुलायम सिंंह यादव की सरकार में सांसद रहते हुये अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ पर विधायक राजू पाल की दिन दहाड़े हत्या का आरोप लगा था।


इसी हत्या में आरोपित होने के बाद अशरफ विधायक भी बना था।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ही कार्यकाल में दिसंबर 2018 में देवरिया जेल में बंद होते हुये व्यापारी को अगवा करा के जेल में बुला कर पीटने और रंगदारी मांगने का आरोप लगा था। यह मामला बहुत दिनों तक सुर्खियों में रहा। संयोग है कि आज अतीक अहमद यूपी आने में थरथरा रहा है।


Comments
Popular posts
सरकार को कानून व्यवस्था का दंभ, अपराधियों ने किया नाक में दम! लखनऊ में 7 साल की मासूम से अगवा कर दरिंदगी; 1 आरोपी गिरफ्तार, दूसरा फरार! हाईकोर्ट के पास सरेराह चौराहे पर महिला वकील की मोबाइल छीन लुटेरा फरार छात्रों के दो गुटों में संघर्ष, एक की मौत!
Image
ॐ नमो ब्रह्मनदेवाय गो ब्राह्मण हिताय च!
साई बाबा के पिता पिंडारी मुसलमान थे,इनका काम भारत मे लूटपाट करना था
Image
कलक्टर बस्ती का आग्रह सब योगदान करें टीका अभियान में!
Image
यूपी की बाराबंकी जेल में 26 कैदी एचआईवी पॉजीटिव मिलने से हड़कंप
Image