जौनपुर। ििइनरह्वविल ने रेलवे स्टेशन पर बनाया वात्सल्य केंद्र, जहाँ होगी स्तनपान की सुविधा !

 


  


जौनपुर


इनरव्हील क्लब के सौजन्य से अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर महिलाओं की सुरक्षा के लिए पहल कर सीटी स्टेशन रेलवे स्टेशन पर स्तनपान (ब्रेस्टफीडिंग) कैबिन लगाया। था। जिसका शुभारम्भ   रेखा दिक्षित ने अपने बच्चे को स्तनपान करते हुए किया। अन्तर्राष्ट्रीय महिला समाजसेवी संस्था इनरव्हील क्लब द्वारा महिला व बाल कल्याण के प्रति समर्पित सीटी स्टेशन जौनपुर के प्लेटफॉर्म संख्या एक पर शिशु स्तनपान व उनके केयर हेतु एक सुविधा युक्त मातृ-शिशु केबिन की स्थापना कर आवश्यक व उल्लेखनीय कार्य किया गया।


जहां बैठकर महिलाएं बच्चों को अपना दूध पिला सकती हैं। इस पहल से माताएं सहज और सुरक्षित अपने नवजातों को अपना दूध पिला सकेंगी। जिसका उद्घाटन स्टेशन अधीक्षक अनिल कुमार उपाध्याय, आर. पी.एफ. प्रभारी श्री वी. के. सिंह व क्लब अध्यक्षा श्रीमती सुनीता अग्रवाल, सचिव श्रीमती मृदुला सिंह श्जूहीश् व अन्य सम्मानित सदस्यों की उपस्थित में श्रीमती रेखा दीक्षित व उनकी बेबी कूहू द्वारा फीता काटकर किया गया।


सभी कार्य कोविड-19 के मानक व्यवहार का पालन करते हुए सादगीपूर्ण समारोह के साथ संपन्न हुआ। स्टेशन मास्टर अनिल कुमार उपाध्याय  को इनरव्हील अध्यक्ष सुनीता अग्रवाल ने अंगवस्त्रम व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। रेलवे स्टेशन पर इस प्रोजेक्ट को लेकर इनरव्हील क्लब जौनुपर द्वारा लम्बे समय से काम चल रहा।  अध्यक्ष सुनीता अग्रवाल ने कहा कि शिशुओं को स्तनपान कराने के लिए माताओं की गोपनीयता की आवश्यकता को देखते हुए सुविधा की व्यवस्था की स्टेशन पर केबिन बनाए गए हैं केबिन बच्चे को स्तनपान कराने वाली महिला की तस्वीर भी लगवाई गयी जिससे आसानी से महिलायें इसका प्रयोग कर सके।  


क्लब की निवर्तमान अध्यक्ष श्रीमती सुनीता सिंह, पूर्व अध्यक्ष श्रीमती नीलम सिंह, कोषाध्यक्ष श्रीमती सरोज सिंह, श्रीमती दीपमाला जायसवाल, श्रीमती ममता मिश्रा, श्रीमती आरती शुक्ला, श्रीमती स्मिता श्रीवास्तव, श्रीमती वन्दना सिंह का विशेष योगदान रहा तथा रोटरी क्लब अध्यक्ष  रो.कृष्ण कुमार मिश्र, सचिव श्री देवेन्द्र सिंह, पूर्व अध्यक्ष रो.रविकांत जायसवाल, निवर्तमान अध्यक्ष श्रीअमित पाण्डेय, रो. रविन्द्रनाथ सिंह, डा.एस. के.अग्रवाल, श्री प्रेम सिंह, श्री अनुराग तिवारी आदि की गरिमामयी उपस्थिति रही।


Comments