फर्जी पीएम आवास धारक पकड़े गए

जौनपुर।


प्रधानमंत्री आवास प्लस योजना सत्यापन के लिए ब्लाक समेत जिला स्तरीय टीम का गठन किया गया। जिसमें अपात्र मिलने पर यह कार्रवाई की गई है। हालांकि सत्यापन का कार्य जारी है। पूर्ण होने के बाद वंचितों को आवास दिलाने के लिए लक्ष्य का निर्धारण किया जाएगा।  पीएम आवास आवंटन को लेकर पूर्व में हुई गड़बड़ियों से सबक लेते हुए इस बार दो चरणों में पात्रों का सत्यापन कराया गया।


पहले ग्राम सचिवों व एडीओ पंचायतों ने अपने स्तर पर जांच कर रिपोर्ट ब्लाक को सौंपी। ब्लाक की ओर से भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर पीडी की ओर से गठित टीमों ने दोबारा पात्रों की पड़ताल की, जिसमें 30 हजार ऐसे लोग मिले जो अपात्र होते हुए भी खुद को पात्र बताते हुए गलत तरीके से अपना नाम दर्ज करा लिए थे। पक्के मकान वालों ने भी प्रधानमंत्री आवास प्लस के तहत गरीबों को मुहैया कराए जाने वाले अपात्रों को लिस्ट लंबी है। कई पक्के मकान वाले भी अपात्र प्रधानों से सांठ-गांठ कर अपना नाम दर्ज करा लिया था। साथ ही एक ही घर के तमाम लोगों का भी सूची में नाम दर्ज था, जिसका पता सत्यापन के बाद चला।


 


                   


Comments