कोविड जाच कम पर आयुक्त गोरखपुर ने जताई नाराजगी!

 


 


 


गोरखपुर 25 सितम्बर 20 ।


मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर ने कोविड-19 के सैम्पल कलेक्शन कम होने पर कड़ी नाराजगी प्रकट करते हुए एम.ओ.आई.सी. बासगांव, बेलघाट, डेरवा, जंगल कौड़िया तथा पिपराइच का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश सीएमओ को देते हुए कहा कि जिस भी सीएचसी/पीएचसी पर प्रतिदिन 100 से कम टेस्टिंग हो रही है उस सीएचसी/पीएचसी के लैब टेक्नीशियन का वेतन रोकते हुए उनका स्पष्टीकरण प्राप्त किया जाये और संतोषजनक स्पष्टीकरण न होने कड़ी कार्यवाही की जाये।


उक्त निर्देश मण्डलायुक्त ने एनेक्सी सभागार में कोविड-19 संबंधी बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिये। इस अवसर पर उन्होंने मृत्यु दर कम करने तथा टेस्टिंग बढ़ाने की दिशा में प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश देते हुए कहा कि डोर टू डोर सर्वे माह में कम से कम 20 दिन कराया जाना आवश्यक है इस हेतु माइक्रो प्लान बनाकर कार्य किया जाये और अपनी क्षमता एंव संसाधन के अनुसार माइक्रो प्लान तैयार किया जाये।


मण्डलायुक्त ने उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया वे रेन्डम चेकिंग कर देखें कि पाजीटिव मरीज जो होेम आइसोलेट है उन्हें समय पर दवाइयां उपलब्ध हो रही है। उन्होंने एमओआईसी को निर्देशित किया कि उन्हें कार्य संपादन में यदि कही कोई कठिनाई आ रही है तो अपने एसडीएम से सम्पर्क करें ताकि उसका निराकरण कराया जा सके। उन्होंने कहा कि यदि कही भी डाटा इन्ट्री आपरेटर की कमी हो तो संज्ञान में लायें ताकि उसकी व्यवस्था की जा सके लेकिन सही व ससमय डाटा इन्ट्री होनी चाहिए। सभी को अपने दायित्व निर्वहन करने है और जो अपने दायित्व निर्वहन के प्रति लापरवाही करेगा उसके विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।


मण्डलायुक्त ने कान्टेक्ट ट्रेसिंग अधिक से अधिक कराने एवं उसकी गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश देते हुए कहा कि सभी का सैम्पलिंग होना चाहिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि सभी कन्टेनमेन्ट जोन में होमगार्ड की डियूटी 8-8 घंटे के लिए लगाई जाये। उन्होंने प्राइवेट अस्पतालों के चिकित्सकों से कहा कि वे अपना दायित्व निभाये। एमओआइसी एवं एसडीएम आपसी समन्वय बनाकर कार्य करें, निश्चित रूप से हम लोग कोरोना की जंग को जीत सकेंगे। सभी को संवेदनशील होकर पूरी निष्ठा, लगन एवं ईमानदारी के साथ कार्य करना होगा। इसके अतिरिक्त मण्डलायुक्त ने जेई/एईएस की प्रगति की भी समीक्षा की।


इस अवसर पर प्रभारी जिलाधिकारी इन्द्रजीत सिंह, अपर आयुक्त प्रशासन अजयकान्त सैनी, उप जिलाधिकारी गण, एडी हेल्थ, सीएमओ, सभी सीएचसी/पीएचसी प्रभारी एवं प्राइवेट अस्पतालों के पदाधिकारी उपस्थित रहे।


 


 


Comments