सुशीला संस्थान ने प्रवासियों की की चिंता

कौटिल्य वार्ता
By -
0

सुशीला देवी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा बाहर से आ रहे प्रवासी मजदूरों को निरंतर कराया जा रहा है भोजन


 


 


    रिपोर्ट केदार नाथ दूबे


 


 संतकबीरनगर संवाददाता | जहां पूरे देश में कोरोना वैश्विक महामारी को देखते हुए लाक डाउन का चौथा चरण चल रहा है लोगों को घर में रहने की बार-बार अपील की जा रही है अगर जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकले और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें ऐसे में खलीलाबाद के जिला कारागार जेल परिसर में 15 मई से लगातार आ रहे प्रवासी मजदूरों को सुशीला देवी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा रविंद्र नाथ सिंह प्रबंध निदेशक प्रकाश ग्रुप- प्रकाश इंफ्रावेंचर प्राइवेट लिमिटेड जिला कारागार में 15 मई से लगातार आ रहे प्रवासी मजदूरों को बिशाल राय साइड इंचार्ज जिला कारागार बनकटिया संकटमोचन की तरह रात दिन प्रवासी मजदूरों की सेवा में लगे हुए हैं और जितने भी मजदूर आ रहे हैं सबको भोजन की व्यवस्था 24 घंटे कराई जा रही है साइड इंचार्ज बिशाल राय ने कहा कि मानव सेवा सबसे बड़ी सेवा है इससे बढ़कर कोई सेवा नहीं है कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में गरीबों के बीच भोजन उपलब्ध कराना सबसे बड़ा धर्म है साइड इंचार्ज बिशाल राय ने कहा कोरोना वायरस को हराने के लिए लोगों को लाक डाउन का पालन करते हुए अपने अपने घरों में रहने की जरूरत है विशाल राय ने कहा कि सरकार लगातार कोरोना के खिलाफ मुस्तैदी से लड़ाई लड़ रही है ऐसे में आ रहे प्रवासी मजदूरों को बिशाल राय उनकी टीम द्वारा लगातार 24 घंटे भोजन कराया जा रहा है जिससे कोई प्रवासी मजदूर भूखा ना रह जाए बड़े भाग्य से मनुष्य का जन्म मिलता है ऐसे में भूखे पेट को भोजन कराना सबसे बड़ा पुनीत कार्य है इस अवसर पर विवेक सिंह, अभिषेक सिंह, सिटू सिंह, बीबी सिंह, अंजनी शुक्ला, शिवप्रसाद शुक्ला, अनुपम तिवारी, रूपेश सिंह, योगेंद्र प्रताप सिंह, अजीत सिंह, शैलेंद्र सिंह सहित दर्जनों लोगों ने प्रवासियों को कराया भोजन|


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)