शराब बेचने की छूट नर फिजिकल डिस्टेंडिंग कस उड़ाया मजाक

कौटिल्य वार्ता
By -
0

ज्यादा शराब खरीदने की लगी होड़
जौनपुर। चालीस दिन बाद जिले में रविवार को शराब की दुकानों के बाहर लम्बी लाइन लगी थी। यहां पर भीड़ इतनी थी कि फिजिकल डिस्टेंसिंग की  धज्जियां उड़ गईं।  जिला प्रशासन ने जैसे ही शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति दी है। यह सूचना मिलते ही लोग बड़ी संख्या में शराब खरीदने के निकल पड़े। भारी संख्या में लोग शराब खरीदने के लिए लाइनों में लगे नजर आए। शहर के बीचों बीच ओलन्दगंज में शराब की दुकान पर सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंच गए लेकिन पुलिस वहां से नदारत नजर आई।   अन्य सामानों की तरह लॉकडाउन में ढील देते हुए शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति दी। जिसके बाद लोगों का हुजूम शराब ठेकों की तरफ दौड़ा, इस दौरान पुलिस कहीं भी नजर नहीं आई। ठेकेदार खुद खड़े होकर लोगों को एक-एक कर खरीदारी करने के लिए समझाते नजर आए। गाइडलाइन के मुताबिक एक बार में केवल पांच लोग ही शराब की दुकान के बाहर खड़े हो सकते हैं। इसके साथ ही 6 फुट की दूरी का पालन भी अनिवार्य है। आज ठेकों के बाहर उमड़ी भीड़ को काबू कर पाना मुश्किल हो रहा है। शराब की दुकानों के बाहर फिजिल डिस्टेंसिंग कही नजर नही आ रही है। ग्रामीण इलाकों में कुछ दुकानों पर एक मीटर की दूरी पर गोल घेरे बनाये गए है। यहां भी लेागों की भीड़ इकट्ठा दिखी। लोगों में शराब का स्टॉक करने की होड़ सी लगी है। लॉकडाउन के शराब खरीदते समय सरकार ने फिजिकल डिस्टेंसिंग बरकरार रखने का निर्देश दिया है। लम्बे समय बाद मिली मुराद से शराख खरीदने वालों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि सरकार की एडवइजरी तार-तार हो रही है। लोगों का हुजूम शराब ठेकों की तरफ दौडने लग गया। कई जगह ठेकेदार खुद खड़े होकर लोगों को एक-एक कर खरीदारी करने के लिए समझाते नजर आ रहे थे। इस दौरान पुलिस भी नजर नहीं आई। अब तो पुलिस की भी मजबूरी है वो शहर की व्यवस्था संभाले, कोराना संक्रमण से निपटे या शराबियों को नियम-कानून सिखाए।


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)