जौनपुर, पदम् विभूष डॉ जोशी के निधन पर विश्वविद्दालय में शोक

कौटिल्य वार्ता
By -
0

पदम भूषण के निधन पर पूविवि में शोक की लहर
जौनपुर। जाने-माने भौतिक वैज्ञानिक पद्मभूषण के निधन पर विश्वविद्यालय में शोक की लहर दौड़ गयी। ज्ञात हो कि  औद्योगिक अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली के महानिदेशक तथा राष्ट्रीय भौतिकी प्रयोगशाला, नई दिल्ली के निदेशक रहे.  डॉ जोशी ने कई वैज्ञानिक व तकनीकी संस्थानों को स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।  प्रो जोशी का पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर से गहरा सम्बंध रहा है। प्रो0 जोशी 2018 के दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्वांचल विश्वविद्यालय आये थे तथा अपने सम्बोधन से सबका मन मोह लिया था। नवम्बर 2019 में पूर्वांचल विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी के  मुख्य अतिथि थे तथा विश्वविद्यालय के नवनिर्मित आर्यभट्ट सभागार का उदघाटन भी किया था । रज्जू भइया संस्थान के आर्यभट्ट सभागार में विश्वविद्यालय कुलपति व शिक्षकों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो डॉ राजाराम यादव  ने प्रो एस के जोशी के साथ के अपने संस्मरणों को याद करते हुए कहा कि प्रोफेसर जोशी बहुत सरल व सहज व्यक्तित्व के धनी थे। उनका जाना विज्ञान जगत और विशेषकर भौतिक विज्ञान के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है। इस अवसर पर  प्रो बीबी तिवारी ने उनके साथ अपने विद्यार्थी जीवन के संस्मरणों को याद किया। इस अवसर पर कुलसचिव सुजीत कुमार जायसवाल, परीक्षा नियंत्रक वी एन सिंह, डॉ राजकुमार व अन्य शिक्षको ने श्रद्धांजलि अर्पित की।


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)