योग तनाव मुक्ति का सर्वश्रेष्ठ उपक्रम

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 


 में तनाव से मुक्ति दिलाता है योग


जौनपुर। कोरोना जैसी वैश्विक आपदा से बचनें के लिए लगभग दुनियां की सभी सरकारों नें यह स्वीकार कर लिया है कि योगाभ्यास के नियमित और निरन्तर अभ्यासों से व्यक्ति अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता के साथ ऊर्जा स्तर को बढ़ाते हुए अपनें तनाव को भी कम कर सकता है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को आयुष मंत्रालय द्वारा निर्धारित दी जा रही गाइडलाइन्स के आधार पर कम से कम एक घंटे तक योगाभ्यास अवश्य करना चाहिए । सुबह-सुबह सूर्योदय के साथ फेसबुक पर लाइव शुरू हुए पतंजलि ध्यान योग शिविर के विशेष प्रशिक्षण के माध्यम से प्रान्तीय सह प्रभारी अचल हरीमूर्ति के द्वारा योग के मौलिक सिद्धांतों के साथ विविध प्रकार की क्रियात्मक पक्षों का अभ्यास कराया जा रहा है । श्री हरीमूर्ति के द्वारा बताया गया है कि आज की विषम परिस्थितियों में योगाभ्यास एक वरदान बन चुका है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम 10 मिनट तक भस्स्त्रिका प्राणायाम, 20 मिनट तक कपालभाति प्राणायाम, 15 मिनट तक अनुलोम-विलोम प्राणायाम के साथ 11-11 बार भ्रामरी तथा उद्गीथ प्राणायामों का अभ्यास करते कम से कम 10 बार सूर्यनमस्कार करके अपनें श्वसन तंत्र को मजबूत बनाते हुए पूरे शरीर में प्राणवायु के साथ रक्त के प्रवाह को सुगमतापूर्वक बनाया जा सकता 


Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)