संस्कृत मे फेसला संस्कृति का नया अध्याय,,कलक्टर हमीर पूर का एतिहासिक कदम

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 हमीरपुर :

 हमीरपुर में शुक्रवार को कोर्ट में एक सुनवाई के दौरान फैसले की घड़ी में कुछ ऐसा हुआ कि वहां मौजूद लोग अवाक रह गए। हुआ यूं कि यहां मुकदमे की सुनवाई के बाद डीएम चंद्र भूषण त्रिपाठी ने संस्कृत भाषा में फैसला सुनाया, जिसे सुनते ही वकील हतप्रभ रह गए। इतना ही नहीं इस दौरान डीएम ने संस्कृत भाषा में आदेश भी जारी किए। 

एक आईएएस अदिकारी के संस्कृत भाषा में फैसला सुनाने का यह पहला वाक्या सामने आया है, जो कोर्ट से लेकर आम लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है।जिलाधिकारी  हमीर  पूर को अध्यक्ष  जिला  सहकारी  बैंक  बस्ती  ने  बात कर  शुभकामनाएं  दीं है  उन्होंने  कहा  हैं  कि संस्कृत  को  सम्मान  देकर  आपने  अपने  सनातनी व राष्ट्रीय  कर्तव्य  का  पालन  किया  है ,

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)