आम आदमी पार्टी उत्तरप्रदेश में एक करोड़ सदस्य बनाएगी.

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 



बसती, ,उत्तरप्रदेश15 जुलाई।
 एक करोड़ नये सदस्यों को आम आदमी पार्टी से जोड़े जाने के लिये 8 जुलाई से प्रदेशभर में चलाये जा रहे यूपी जोड़ों अभियान के तहत बस्ती जनपद में अब तक 7,000 से ज्यादा सदस्य बनाये जा चुके हैं। यह जानकारी देते हुये जिलाध्यक्ष रामयज्ञ निषाद ने कहा कि यूपी जोड़ो सदस्यता अभियान को लेकर जनता में बेहद उत्साह है और व्यापक समर्थन प्राप्त हो रहा है।

इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि एक इस अभियान के तहत एक सप्ताह मे प्रदेशभरभर में 14 लाख 66 हजार 947 नए सदस्य बन चुके है। उन्होंने कहा कि बुनियादी मुद्दों पर राजनीति करने वाली आम आदमी पार्टी को यूपी में अपार जनसमर्थन मिल रहा है। पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल की नीतियों और उनके विकास के मॉडल से यहां की जनता बेहद प्रभावित है। राजनीतिक दलों के कई बड़े नेता पार्टी के संपर्क में है जल्द पार्टी की सदस्यता ग्रहण करेंगे। योगी राज में अपराध, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, महंगाई आदि से परेशान लोग यूपी के विकास के लिए यहां भी केजरीवाल मॉडल लाना चाहते हैं।
   
जिलाअध्यक्ष रामयज्ञ निषाद ने कहा कि प्रदेश भर में आम आदमी पार्टी का यूपी जोड़ो अभियान जिस तेजी से आगे बढ़ रहा है, उसे देख कर कहना गलत नही होगा कि आप के समर्पित कार्यकर्ताओं के दम पर आज पूरे प्रदेश में नफरत और बदले की राजनीति करने वाली नकारा सरकार के खिलाफ परिवर्तन की बयार उठ खड़ी हुई है। पार्टी के साथी घर- घर जाकर बड़ी संख्या में नए सदस्य बना रहे हैं। जगह-जगह कैंप भी लगाए जा रहे हैं। हर जिले में मिस्ड कॉल नंबर जारी किए गए हैं और सदस्यता लेने के लिए एप भी लांच किया गया है। जिलाअध्यक्ष रामयज्ञ निषाद ने कार्यकर्ताओं के उत्साह की सराहना की।

कहा कि पार्टी संयोजक केजरीवाल की नीतियों को लोगों का भरपूर प्यार मिल रहा है। लोगों के इसी प्यार को हमें परिवर्तन की ऐसी आंधी में तब्दील करना होगा, जो सभी मोर्चे पर नाकाम योगी सरकार का अहंकार नेस्तनाबूद कर दे। जिला अध्यक्ष रामयज्ञ निषाद ने बताया कि अभियान के तहत विधानसभा क्षेत्र स्तर पर 25000 सदस्यों का लक्ष्य दिया गया है। इसके लिए विधानसभा स्तर पर अभियान के इंचार्ज नियुक्त किए गए हैं। खुद प्रदेश प्रभारी संजय सिंह जिलों का दौरा करके पार्टी के साथियों का उत्साह बढ़ा रहे हैं। प्रदेश कार्यकारिणी के तमाम पदाधिकारियों को अलग-अलग स्तर पर अभियान की समीक्षा की जिम्मेदारी दी गई है।

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)