कोविड से अनाथ बालिकाओं शादी की जिम्मेदारी सरकार की

कौटिल्य वार्ता
By -
0

 




संतकबीरनगर।उत्तरप्रदेश
 उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत कोविड-19 से प्रभावित/अनाथ हुई बालिकाओं की शादी में आर्थिक मदद प्रदान किये जाने की दिशा में तेजी से प्रयास शुरू किये जा चुके हैं । प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास विभाग वी. हेकाली झिमोमी ने इस सम्बन्ध में प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को पत्र भेजकर इस बारे में आवेदन आमंत्रित करने के साथ ही उसके त्वरित निस्तारण की बात कही है । उन्होंने कहा है कि कोविड-19 से प्रभावित अनाथ बालिकाओं के विवाह के लिए आर्थिक सहायता/अनुदान प्रदान करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की जांच महज 15 दिन के भीतर पूर्ण कर ली जाए । 

 कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य सरकार द्वारा हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं, फिर भी कोरोना के कारण जो बच्चे प्रभावित हुए हैं, उनकी हरसंभव मदद को सरकार उनके साथ है । ऐसे संकटग्रस्त बच्चों के भरण-पोषण, शिक्षा, चिकित्सा आदि की व्यवस्था के लिए आर्थिक सहयोग प्रदान किये जाने के संबंध में प्रदेश में ‘मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’  प्रारम्भ की गयी है । इस सम्बन्ध में विस्तृत दिशा-निर्देश गत दो  जून को जारी किया गया था । उक्त शासनादेश में यह उल्लेख है कि कोविड-19 संक्रमण से प्रभावित इस  श्रेणी की सभी बालिकाओं की शादी के लिए एक लाख एक हजार रुपये की राशि उपलब्ध करायी जायेगी। इसी प्रकार शासनादेश में उल्लिखित है कि इसके लिए आवेदन पत्र का प्रारूप व दिशा-निर्देश पृथक से निर्गत किये जायेंगे। इसके तहत कोविड-19 संक्रमण से प्रभावित /अनाथ / संकटग्रस्त बालिकाओं के विवाह हेतु आर्थिक सहायता / अनुदान प्रदान किये जाने हेतु दिशा-निर्देश व प्रारूप बुधवार को जारी कर दिये गये ।

Post a Comment

0Comments

Please Select Embedded Mode To show the Comment System.*